प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

'बाइज़्ज़त बरी - 14 साल बाद'

दिल्ली की एक स्थानीय अदालत ने 14 साल पहले लाजपत नगर बाज़ार में हुए धमाके के तीन दोषियों को फांसी और एक को आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई है. लेकिन एक अभियुक्त 30 वर्षीय सईद मक़बूल शाह को 14 साल बाद निर्दोष पाया गया और बाइज़्ज़त बरी किया गया है. बीबीसी उर्दू के संवाददाता रियाज़ मसरूर ने रिहा हुए सईद मक़बूल शाह से बातचीत की है.