इस्तीफ़ा नहीं दूंगा: मोदी

शशि थरूर और ललित मोदी
Image caption मोदी और थरूर के बीच विवाद ट्विटर संदेशों से ही शुरु हुआ था

विवाद में फँसे आईपीएल के कमिश्नर ललित मोदी ने शनिवार की शाम ट्विटर पर दिए गए अपने संदेश में कहा है कि उन पर इस्तीफ़ा देने के लिए दबाव डाला जा रहा है लेकिन वे इस्तीफ़ा नहीं देंगे.

उन्होंने लिखा है, “लोग मुझ पर इस्तीफा देने के लिए दबाव डाल रहे हैं, पर ऐसा नहीं होगा. उन लोगों को मुझे हटाने दीजिए.”

उन्होंने कहा है कि सच जल्दी ही सामने आ जाएगा और इसके लिए इंतज़ार करना चाहिए.

उल्लेखनीय है कि आईपीएल की कोच्चि टीम को लेकर पूर्व विदेश राज्य मंत्री शशि थरूर के साथ बयानबाज़ी से शुरु हुए विवाद ने बड़ा रुप ले लिया है.

इसकी वजह से शशि थरूर ने अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया और आईपीएल को लेकर कई स्तर पर जाँच शुरु हो गई है.

आर्थिक अनियमितताओं से लेकर आयकर तक के कई मामलों में जाँच शुरु होने के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने ललित मोदी पर इस्तीफ़े का दबाव बढ़ा दिया है.

इस पर फ़ैसला लेने के लिए 26 अप्रैल को आईपीएल की गवर्निंग काउंसिल की बैठक बुलाई गई है.

ललित मोदी इस बैठक को आगे बढ़ाने की बात कह रहे हैं लेकिन बीसीसीआई के पदाधिकारी कह रहे हैं कि बैठक नियत तिथि पर ही होगी.

नाम उजागर करने का वादा

इस विवाद ने मीडिया के चेहेते ललित मोदी को मीडिया के ही ख़िलाफ़ खड़ा कर दिया है.

मोदी ने शाम पौने छह बजे ट्विटर पर भेजे संदेश में लिखा है, "मीडिया मेरे बारे में मनगढ़ंत कहानियां फैला रहा है. इससे पता चलता है कि मीडिया किस तरह अपनी ताक़त का ग़लत इस्तेमाल कर सकता है."

मोदी ने लोगों से आग्रह किया कि वे इन आधारहीन बातों से प्रभावित न हों.

ललित मोदी ने लिखा है, “जो कुछ हमने किया है उसे आप पिछले चार सालों से देख रहे हैं. और इसे हमसे कोई भी यूं ही वापस नहीं ले सकता.”

उन्होंने लिखा है कि जल्दी ही सभी तथ्यों की सच्चाई सामने आ जाएगी.

इसके बाद उन्होंने कहा है, "आईपीएल-3 ख़त्म होने का इंतज़ार कीजिए, इसके बाद मैं उन व्यक्तियों के नाम उजागर कर दूँगा जिन्होंने खेल को बदनाम करने की कोशिश की और हमने उन्हें ऐसा करने से कैसे रोका."

ललित मोदी के इस रूख़ से साफ़ हो गया है कि अब बीसीसीआई के पदाधिकारियों और उनके बीच अब आमने-सामने की लड़ाई शुरु हो गई है.

संबंधित समाचार