शोपियां में फिर हिंसक प्रदर्शन

शोपियां प्रदर्शन (फ़ाइल फ़ोटो)
Image caption कश्मीर में पिछले एक महीने में सैनिकों की गोलियों से आम नागरिक के मारे जाने की ये दूसरी घटना है

भारत प्रशासित कश्मीर में शोपियां ज़िले के केल्लर गांव में शनिवार की सुबह भारतीय सैनिकों की गोलियों से एक व्यक्ति की मौत हो गई.

इस घटना के बाद केल्लर और निकटवर्ती गांवों में सैकड़ों की संख्या में ग्रामीणों ने विरोध प्रदर्शन किया और सेना के दो वाहनों को आग लगा दी.

ख़बरों के मुताबिक सैनिकों की तरफ से हुई गोलीबारी में ग़ुलाम मोहम्मद काला की मौत हो गई और एक अन्य व्यक्ति घायल हो गया. शोपियां ज़िले के पुलिस अधीक्षक शाहिद मेराज ने बीबीसी को बताया कि मोहम्मद काला घोड़ों के ज़रिये लकड़ियाँ ढोने का काम करता था.

ग़लत निशानदेही

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि शनिवार की सुबह सेना ने क्षेत्र में चरमपंथियों को पकड़ने के लिए घेराबंदी की थी. सैनिकों ने मोहम्मद काला और दूसरे व्यक्ति को रुकने के लिए कहा, लेकिन उन्होंने वहाँ से भागने का प्रयास किया.

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि सैनिकों ने आतंकवादी होने के संदेह में उन पर गोलियां चलाईं.

घटना का पता चलने पर केल्लर और आस-पास के गांवों से सैकड़ों की संख्या में लोग एकजुट हो गए. नाराज ग्रामीणों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया और सेना के दो वाहनों को आग के हवाले कर दिया.

हिंसक भीड़ को नियंत्रित करने के लिए सैनिकों ने गोलियां चलाईं, जिसमें कम से कम तीन ग्रामीण घायल हो गए.

इस मामले पर प्रतिक्रिया के लिए श्रीनगर में भारतीय सेना के प्रवक्ता से संपर्क नहीं हो सका.

कश्मीर घाटी में पिछले एक महीने में सैनिकों की गोली से किसी व्यक्ति के मारे जाने की ये दूसरी घटना है. इससे पूर्व, कुपवाड़ा ज़िले में एक 70 वर्षीय वृद्ध सैनिकों की गोलियों का निशाना बना था.

संबंधित समाचार