भारतीयों को सुरक्षा का आश्वासन

हामिद करज़ई और मनमोहन सिंह
Image caption दोनों नेता भूटान में सार्क शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे

अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करज़ई ने अपने देश में रह रहे भारतीयों को पूरी सुरक्षा देने का भरोसा दिलाया है.

सोमवार को राष्ट्रपति करज़ई ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से दिल्ली में मुलाक़ात की.

इसके बाद संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा, "अफ़ग़ानिस्तान के पुनर्निर्माण और विकास के लिए भारत अपनी मदद जारी रखेगा."

पिछले 10 सालों में भारत ने अफ़ग़ानिस्तान में सड़कें, स्कूल, अस्पताल, बांध जैसे निर्माण कार्यों में लाखों डॉलर ख़र्च किए हैं.

लेकिन दो महीने पहले अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल में आत्मघाती हमलों में नौ भारतीयों की मौत हो गई थी.

अफ़सोस

इस घटना पर अफ़सोस जताते हुए करज़ई ने कहा, "आतंकवाद के ख़िलाफ़ भारत और अफ़ग़ानिस्तान की लड़ाई सांझी है."

करज़ई ने बताया कि उनकी बातचीत में अफ़ग़ानिस्तान में अगले महीने होने वाली जिरगा के बारे में भी चर्चा हुई.

इस जिरगा में देश के अलग-अलग जातीय और क्षेत्रीय समुदायों से क़रीब 1400 प्रतिनिधि इकट्ठा होकर शांति बहाली के लिए तालेबान नेताओं से बात करने की रणनीति बनाएंगे.

दोबारा अफगानिस्तान का राष्ट्रपति चुने जाने के बाद हामिद करज़ई का ये पहला भारत दौरा है.

मंगलवार सुबह राष्ट्रपति करज़ई भूटान में होने वाले सार्क देशों के शिखर सम्मेलन के लिए रवाना हो जाएंगे.

इस सम्मेलन में सभी सार्क देश यानी अफ़ग़ानिस्तान, भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका, नेपाल, मालदीव, भूटान और बांग्लादेश हिस्सा लेंगे.

संबंधित समाचार