गिलानी-मनमोहन मुलाक़ात संभव

  • 26 अप्रैल 2010
गिलानी और मनमोहन सिंह
Image caption सार्क सम्मेलन के दौरान आमने-सामने होंगे मनमोहन-गिलानी

विदेश मंत्री एसएम कृष्णा ने सार्क शिखर सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गिलानी के बीच मुलाक़ात की संभावना से इनकार नहीं किया है.

दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (सार्क) का शिखर सम्मेलन 28-29 अप्रैल को भूटान की राजधानी थिम्पू में हो रहा है.

विदेश मंत्री एसएम कृष्णा भी इसी सिलसिले में भूटान पहुँचे हैं. थिम्पू में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा, "मैं इस बैठक से इनकार नहीं कर रहा."

उन्होंने कहा कि सार्क शिखर सम्मेलन के दौरान कई ऐसे मौक़े आएँगे, जब कई देशों के राष्ट्राध्यक्ष एक छत के नीचे मौजूद होंगे.

विदेश मंत्री ने कहा कि इस दौरान बहुपक्षीय और द्विपक्षीय बैठकें भी होंगी.

औपचारिकता

उन्होंने कहा, "कैसे सब चीजें तय होती है, इसका इंतज़ार कीजिए. जब भी दोनों प्रधानमंत्री मिलेंगे, भारत और पाकिस्तान के बीच के सभी द्विपक्षीय मुद्दों पर बातचीत होगी."

मुंबई हमलों के मामले में प्रमुख अभियुक्त आमिर अजमल क़साब के बारे में पाकिस्तान के अनुरोध पर विदेश मंत्री ने कहा कि उन्हें पाकिस्तान की ओर से दस्तावेज़ तो मिला है, लेकिन उन्होंने इसका अध्ययन नहीं किया है.

पाकिस्तान ने उस मजिस्ट्रेट का बयान रिकॉर्ड करने का अनुरोध किया है, जिनके सामने क़साब से अपना दोष स्वीकार किया था.

विदेश मंत्री ने कहा कि क़साब के मामले में अदालती कार्यवाही तेज़ी से चल रही है. एसएम कृष्णा ने कहा कि पाकिस्तान के अनुरोध पर विचार करने से पहले क़ानूनी औपचारिकताएँ पूरी करनी होंगी.

क़साब के मामले में सुनवाई पूरी हो गई है और उम्मीद है कि तीन मई को इस पर फ़ैसला आ जाएगा.

संबंधित समाचार