नक्सली हमले में सात जवानों की मौत

  • 8 मई 2010
नक्सली
Image caption पिछले महीने भी नक्सलियों ने एक ही हमले में 76 सुरक्षाकर्मियों को मार दिया था

माओवादियों ने छत्तीसगढ़ के बीजापुर ज़िले में केंद्रीय रिज़र्व पुसिल बल (सीआरपीएफ़) के एक वाहन को बारूदी सुरंग विस्फोट

से उड़ा दिया है, जिसमें कम से कम सात जवान मारे गए हैं.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार 10 सुरक्षाकर्मी घायल भी हुए हैं और उनका इलाज जगदलपुर के अस्पताल में चल रहा है.

पुलिस का कहना है कि शनिवार को यह हमला उस समय हुआ जब सीआरपीएफ़ का एक दल आवापल्ली से बीजापुर आ रहा था. रास्ते में नक्सलियों ने उनकी गाड़ी को बारुदी सुरंग विस्फोट से उड़ा दिया.

स्थानीय पत्रकार करीमुद्दीन के पुलिस महानिरीक्षक सीजे लालकुंवर के हवाले से बाताया कि घटना स्थल पर पुलिस की बचाव टीम पहुंच चुकी है.

ग़ौरतलब है कि पिछले महीने ही छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने सीआरपीएफ़ के एक गश्ती दल पर घात लगाकर हमला किया था जिसमें 76 जवान मारे गए थे.

कारण

इस घटना के कारणों पर राज्य के गृहमंत्री ननकी राम का कहना है, "ऐसा लगता है कि सुरक्षा बलों ने उन हिदायतों की अनदेखी है जिसमें कहा गया है कि नक्सल प्रभावित इलाक़ों में किसी भी गाड़ी पर सफ़र नहीं किया जाए."

हालांकि पुलिस का कहना है कि इस घटना से जुड़े विस्तृत विवरण का अब भी इंतज़ार है.

हमले के कारण सीआरपीएफ़ की बारुदी सुरंग रोधी गाड़ी के भी परखच्चे उड़ गए हैं.

मार गए सभी जवानों का संबंध सीआरपीएफ़ के168 बटालियन से है.

बस्तर इलाक़े में स्थित बीजापुर भी नक्सलियों का गढ़ माना जाता है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार