मुंडा के लिए कुर्सी छोड़ेंगे सोरेन

Image caption अर्जुन मुंडा 28 महीनों के लिए मुख्यमंत्री बनेंगे.

झारखंड में सरकार बनाने के लिए भारतीय जनता पार्टी और झारखंड मुक्ति मोर्चा के बीच समझौता हो गया है.

दोनों ही पार्टियां राज्य में बारी बारी से 28 महीने शासन में रहेंगी और इसकी शुरूआत भाजपा से होगी.

रांची में एक साझा संवाददाता सम्मेलन के दौरान मुख्य मंत्री शिबू सोरेन ने इसका एलान किया. भारतीय जनता पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री के उम्मीदवार अर्जुन मुंडा भी वहां मौजूद थे.

सोरेन ने किसी तारीख़ की घोषणा नहीं की लेकिन उनका कहना था कि वो बहुत जल्द ही कुर्सी छोड़ देंगे.

रांची से बीबीसी संवाददाता सलमान रावि का कहना है कि अभी भी मामला पूरी तरह से सुलझा नहीं है और झारखंड मुक्ति मोर्चा के आठ बागी विधायक अभी भी भाजपा के साथ सरकार बनाने के पक्ष में नहीं हैं.

भाजपा की झारखंड प्रभारी करूणा शुक्ला का कहना है कि शिबू सोरेन के बड़े बेटे का श्राद्ध होनेवाला है इसलिए अभी तारीख़ का एलान नहीं किया गया है.

भाजपा और सोरेन के संबंधों में तब कड़वाहट आ गई जब उन्होंने संसद में 27 अप्रैल को भाजपा की ओर से लाए गए कटौती प्रस्ताव के ख़िलाफ़ वोट किया.

भाजपा के संसदीय बोर्ड ने सोरेन सरकार से समर्थन वापस लेने का एलान किया था लेकिन जब उनके पुत्र हेमंत सोरेन ने भाजपा नेतृत्व में गठबंधन सरकार का प्रस्ताव रखा तो इस फ़ैसले को रोक लिया गया.

संबंधित समाचार