विमान हादसे में 158 लोगों की मौत

घटनास्थल

दुबई से उड़कर कर्नाटक के मैंगलोर शहर में उतर रहा एयर इंडिया का एक विमान शनिवार तड़के दुर्घटनाग्रस्त हो गया. विमान में चालक दल समेत 166 लोगों में से अधिकतर मारे गए हैं.

विमान दुर्घटना में मरने वालों की संख्या 158 हैं. एयर इंडिया के मुताबिक़ आठ लोग जीवित बच गए हैं.

विमान में 137 वयस्क, 19 बच्चे, चार शिशु और चालक दल के छह सदस्य थे. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बीबीसी के साथ बातचीत में लोगों के इस भीषण हादसे में जीवित बचने की पुष्टि की है.

जो लोग जीवित बचे हैं उनमें हैं - एक मेडिकल छात्रा सब्रीना, 26 वर्षीय उमर फ़ारूक़ और जोएल प्रसाद डीसूज़ा. विमान के कैप्टन एफ़ ग्लूसिका थे और उनके साथ थे फ़्लाइंग ऑफ़िसर कैप्टन एचएस अहलुवालिया.

एयर इंडिया के डायरेक्टर पर्सनल अनूप श्रीवास्तव ने संवाददाता सम्मेलन में बताया, "एयर इंडिया एक्सप्रेस का बोइंग 737-800 विमान मैंगलोर में दुर्घटनाग्रस्त हुआ है. विमान मैंगलोर की हवाई पट्टी पर उतरने के बाद रनवे से आगे चला गया. कुछ लोग बचा लिए गए हैं और उन्हें अस्पताल पहुँचाया गया है. यात्रियों के रिश्तेदारों से संपर्क किया जा रहा है. कुछ रिश्तेदारों को लिए एक विमान आईसी-179 मुंबई से मैंगलोर के लिए उड़ान भरने के तैयार है. मैंगलोर हवाई अड्डा बंद है इसलिए ये विमान केरल के कोज़ीकोड हवाई अड्डे पर उतरेगा."

एयर इंडिया एक्सप्रेस का बोइंग 737-800 विमान मैंगलोर में दुर्घटनाग्रस्त हुआ है. विमान मैंगलोर की हवाई पट्टी पर उतरने के बाद रनवे से आगे चला गया और दुर्घटनाग्रस्त हो गया. आठ लोग बचा लिए गए हैं और उन्हें अस्पताल पहुँचाया गया है. यात्रियों के रिश्तेदारों से संपर्क किया जा रहा है. एयर इंडिया के अनूप श्रीवास्तव

कर्नाटक के मुख्यमंत्री भी घटनास्थल पर पहुँच रहे हैं. राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने हादसे पर शोक व्यक्त किया है. संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार के चुनाव के बाद सत्ता में एक साल पूरे होने के कार्यक्रम रद्द कर दिए गए हैं. डायरेक्टर जनरल ऑफ़ सिविल एविएशन (डीजीसीए) के दफ़्तर ने हादसे के कारणों और परिस्थितियों की जाँच शुरु कर दी है.

आग लग गई, धुँआ उठने लगा

स्थानीय पत्रकार ख़ालिद कर्नाटकी ने बैंग्लौर से बताया, "विमान मैंगलोर में शहर से 30 किलोमीटर दूर हवाई पट्टी पर उतरते समय भारतीय समयानुसार सुबह साढ़े छह बजे दुर्घटनाग्रस्त हो गया. हवाई पट्टी पर उतरते समय विमान हवाई पट्टी से आगे बढ़ गया और आसपास के पहाड़ी इलाक़े में जा गिरा."

उन्होंने बताया कि दुर्घटना के बाद विमान में आग लग गई थी और अब भी विमान से धुँआ उठ रहा है. राहत टीमें घटनास्थल पर बचाव कार्यों में जुटी हुई हैं. जीवित बचे कुछ लोगों को अस्पताल पहुँचाया गया है.

स्थानीय प्रशासन, कोस्ट गार्ड और अन्य विभागों के कर्मचारी घटनास्थल पर मौजूद हैं और कई चिकित्सकों की टीमें भी वहाँ पहुँच गई हैं.

मैंगलोर एयरपेर्ट के टर्मिनल मैनेजर ने बीबीसी संवाददाता अतुल संगरको फ़ोन पर बताया, "विमान में 161 यात्रियों के साथ-साथ चालक दल के पाँच सदस्य सवार थे. दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद विमान कई हिस्सों में टूट गया. लेकिन कम से कम छह लोग इस हादसे में से बच निकले हैं. इनमें से एक व्यक्ति तो ख़ुद ही घटनास्थल से चलकर राहतकर्मियों तक पहुँचा."

मैंगलोर एयरपोर्ट के प्रेस अधिकारी केटी थॉमस ने बीबीसी संवाददाता अनीश अहलुवालिया को बताया, "विमान में लगी आग पर काबू पा लिया गया है. धुँआ काफ़ी देर तक उठता रहा है. कुछ घायलों को अस्पताल पहुँचाया गया है."

राहत टीमों के अनेक सदस्यों को पहाड़ी इलाक़े में मदद पहुँचाने में काफ़ी मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है.

समाचार एजेंसियों के अनुसार वहाँ मौजूद अधिकारियों के अनुसार विमान में लगी आग के कारण उठते धुँए को ख़त्म होने में कुछ घंटे का समय लग सकता है.

संबंधित समाचार