नहीं मिला विमान का ब्लैक बॉक्स

मैंगलोर में शनिवार को जो विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ था उसका ब्लैक बॉक्स नहीं मिला पाया है. दुर्घटना के कारणों का पता लगाने में ब्लैक बॉक्स की अहम भूमिका रहती है.

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री प्रफ़ुल्ल पटेल ने घटनास्थल का दौरा किया था और विमान हादसे की नैतिक ज़िम्मेदारी ली है.

शनिवार सुबह कर्नाटक के मैंगलोर हवाई अड्डे पर दुबई से आ रहा एयर इंडिया एक्सप्रेस का विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था, जिसमें 158 लोग मारे गए.

प्रफ़ुल्ल पटेल ने दिल्ली लौटकर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मुलाक़ात की और उन्हें स्थिति से अवगत कराया.

पत्रकारों से बातचीत में प्रफ़ुल्ल पटेल ने घटना की नैतिक ज़िम्मेदारी ली और कहा, "मैं मैंगलोर विमान हादसे से काफ़ी दुखी हूँ. मुझे इतनी बड़ी संख्या में लोगों के मारे जाने का काफ़ी दुख है."

मैंगलोर में हुए विमान हादसे की जाँच के आदेश दे दिए गए हैं.अमरीका स्थित नेशनल ट्रांसपोर्टेशन सेफ़्टी बोर्ड के अधिकारी और बोइंग की टीम विमान हादसे की जाँच में मदद के लिए भारत पहुँच रही है.

विमान में चालक दल के छह सदस्यों समेत 166 लोग सवार थे. इनमें से 158 लोगों की मौत हो गई है, लेकिन आठ लोग ज़िंदा बच गए हैं.

प्रफ़ुल्ल पटेल ने कहा है कि शुरुआती जाँच से यही लगता है कि रनवे को लेकर कोई समस्या नहीं थी. उन्होंने बताया कि सर्बिया के ज़ेड ग्लूसिका इस विमान के पायलट थे और काफ़ी अनुभवी थे. उनके सह पायलट एचएस अहलूवालिया को भी अच्छा अनुभव था.

उन्होंने स्पष्ट किया कि चार साल पुराना मैंगलोर रनवे पूरी तरह सुरक्षित है.

संबंधित समाचार