जमैका के प्रधानमंत्री ने अफ़सोस जताया

Image caption जमैका में ज़बरदस्त झड़पें हुई हैं

जमैका के प्रधानमंत्री ने कहा है कि किंग्स्टन में मादक द्रव्यों के ख़िलाफ़ चलाए गए अभियान में 31 लोगों की मौत के बाद वहाँ क़ानून व्यवस्था बहाल की जाएगी.

प्रधानमंत्री ब्रूस गोल्डिंग ने लोगों के मारे जाने पर अफ़सोस जताया. ये मौतें तब हुई जब मादक द्रव्यों का धंधा करने वाले एक संदिग्ध व्यक्ति ‘क्रिस्टॉफ़र डुडस कोक’ के समर्थक सुरक्षाकर्मियों से भिड़ गए.

अमरीका को क्रिस्टॉफ़र डुडस कोक की तलाश है लेकिन वो अभी तक लापता है. उनके कई वफ़ादार समर्थक हैं जिनका कहना है कि वे क्रिस्टॉफ़र की रक्षा करेंगे.

पुलिस और सैनिकों ने तिवोली गार्डन्स में डेरा डाला हुआ है. झड़पों के कारण किंग्स्टन हवाईअड्डे की ओर जाने वाला रास्ता बाधित है.

जमैका के प्रधानमंत्री ने संसद में कहा कि क्रिस्टॉफ़र डुडस कोक के ख़िलाफ़ अभियान आपातकालीन अधिकारों के तहत चलाया गया है, लेकिन ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि नागरिकों की सुरक्षा को खतरा है.

प्रधानमंत्री ने क्रिस्टॉफ़र डुडस कोक को अमरीका को प्रत्यर्पित करने को मंज़ूरी दे दी है.

लोगों का कहना है कि मारे गए लोगों की संख्या 31 से 60 के बीच है और ज़्यादातर लोग आम नागरिक बताए जा रहे हैं.

संबंधित समाचार