तूफ़ान का असर,राजस्थान में भारी बारिश

Image caption पाकिस्तान के कई इलाक़े भी फेट से प्रभावित हैं

कई दिनों से गर्मी का प्रकोप झेल रहे उत्तर भारत में पारा अचानक लुढ़क गया है. समुद्री तूफ़ान फेट के असर के चलते कई जगह बारिश हुई है तो कहीं मॉनसून अपना असर दिखा रहा है.

समुद्री तूफ़ान के कारण राजस्थान में तो कुछ जगह इतनी बारिश हुई है कि दो गाँव पूरी तरह से दूसरे इलाक़ों से कट गए हैं. राहत कार्यों के लिए सेना की मदद लेनी पड़ी है. अब तक 100 लोगों को बचाया जा चुका है.

सबसे ज़्यादा असर लती गाँव पर हुआ है जहाँ बताया जा रहा है कि 300 से ज़्यादा लोग अपने घरों में फँसे हुए हैं. जैसलमेर को हाई अलर्ट पर रखा गया है.

भारी बारिश के कारण जोधपुर और जैसलमेर हाईवे बाधित हुए हैं. रेल सेवाओं पर भी असर पड़ा है.

मॉनसून का असर

इस बीच मॉनसून देश के कई राज्यों तक पहुँच गया है. केरल में शुरुआत में मॉनसून धीमा पड़ गया था पर मंगलवार को वहाँ तेज़ बारिश हुई. मौसम विभाग के अनुसार बुधवार को भी ऐसा ही मौसम रहने की उम्मीद है.

केरल में मॉनसून उम्मीद से पहले 31 मई को पहुँच गया था.

पंजाब और हरियाणा में भी भारी बारिश हुई है जिसके बाद वहाँ तापमान में गिरावट दर्ज की गई है.

दिल्ली को भी गर्मी से निजात मिली है. मॉनसून से पहले की बौछारों से मौसम सुहाना हो गया है.शिमला में भी सोमवार को तापमान में काफ़ी गिरावट हुई, इलाक़े में हुई बर्फ़बारी से मनाली-लेह हाईवे बंद हो गया था.

475 किलोमीटर लंबा ये हाईवे जम्मू कश्मीर के सीमावर्ती क्षेत्रों को हिमाचल प्रदेश से जोड़ता है और भारतीय सेना के लिए भी ये काफ़ी अहम है.

संबंधित समाचार