भोपाल पर प्रधानमंत्री माफ़ी माँगें:गडकरी

भारतीय जनता पार्टी की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी विवाद के साए के बीच पटना में शुरु हुई. कार्यकारिणी के पहले दिन ही भाजपा को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की नाराज़गी झेलनी पड़ रही है.

बिहार के अख़बारों में नरेंद्र मोदी और नीतीश कुमार की एक साथ तस्वीर छपी है जिसमें कहा गया है कि कैसे गुजरात ने आपदा के दौरान बिहार की मदद की. नीतीश कुमार इससे काफ़ी नाराज़ हैं.

16 साल बाद भाजपा कार्यकारिणी की बैठक बिहार में आयोजित की गई है. दरअसल इस साल बिहार में विधान सभा चुनाव होने हैं. इसी को ध्यान में रखते हुए ये बैठक पटना में आयोजित की गई है.

बैठक में पार्टी अध्यक्ष नीतिन गडकरी, लाल कृष्ण आडवाणी, सुषमा स्वराज और राजनाथ सिंह समेत कई नेताओं ने हिस्सा लिया.

स्वाभिमान रैली

कार्यकारिणी के अंतिम दिन भाजपा ने स्वाभिमान रैली का आयोजन किया है. माना जा रहा है कि ये बिहार विधानसभा चुनावों की तैयारियों की शुरुआत है.

इस रैली को भाजपा शक्ति प्रदर्शन के तौर पर देख रही है. बिहार में भाजपा और जनता दल यूनाइटेड की गठबंधन सरकार है.

अपने उदघाटन भाषण में पार्टी अध्यक्ष नितिन गडकरी कांग्रेस पर जमकर बरसे. उन्होंने भोपाल गैस कांड, महंगाई, आतंकवाद, नक्सलवाद और भ्रष्ट्राचार के मामले पर कांग्रेस की तीख़ी आलोचना की.

भोपाल गैस कांड पर गडकरी ने कहा कि कांग्रेस नेतृत्व मामला पार्टी और अर्जुन सिंह के पाल में डाल कर बच निकलना चाहती है. उनका कहना था कि कांग्रेस के क़ानूनी सहयोग के कारण एंडरसन देश बच निकलने में सफल रहे.

गडकरी ने कहा कि प्रधानमंत्री को देश से माफ़ी माँगनी चाहिए.

भाजपा अध्यक्ष ने कांग्रेस पर ग़लत आर्थिक और विदेश नीति का भी आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि ग़लत आर्थिक नीतियों के चलते महंगाई बढ़ रही है.

गडकरी का कहना था कि ग़लत विदेश नीतियों का ही अंजाम है कि आज भी पाकिस्तान में भारत के ख़िलाफ़ साज़िश रची जा रही है जबकि चीन भारतीय ज़मीन पर अतिक्रमण कर रहा है.

संबंधित समाचार