अमरीका ने बीपी को 48 घंटों का समय दिया

तेल रिसाव रोकने की कोशिश जारी

अमरीका ने तेल कंपनी बीपी को मेक्सिको की खाड़ी में हो रहे तेल रिसाव को रोकने के लिए सख़्त क़दम उठाने का निर्देश दिया है.

अमरीकी कोस्ट गार्ड के प्रमुख रियर एडमिरल जेम्स वॉटसन ने शनिवार को तेल कंपनी बीपी को एक पत्र लिखकर चिंता जताई कि रिसाव को रोकने के लिए उठाए जा रहे क़दम नाकाफ़ी हैं.

48 घंटों का समय

वॉटसन ने 48 घंटों के अंदर कंपनी को प्रभावी कार्रवाई करने को कहा है.

अमरीका की तरफ़ से ये निर्देश अमरीकी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण विभाग की तरफ़ से जारी नए आंकड़ों के बाद दिए गए हैं इसके अनसार मेक्सिको की खाड़ी में रोज़ाना लगभग 40 हज़ार बैरेल तेल का रिसाव हो रहा है जो कि पहले के अनुमान से दोगुना है.

इस बीच अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन के बीच शनिवार को टेलिफ़ोन पर बातचीत हुई.

मेक्सिको की खाड़ी मे हो रहे तेल रिसाव पर ओबामा की सार्वजनिक नाराज़गी के मद्देनज़र इस टेलिफ़ोनिक बातचीत पर सबकी निगाहें टिकी हुई थीं.

लेकिन बातचीत ख़त्म होने के बाद ब्रिटेन के अधिकारियों ने कहा है कि दोनों नेताओं के बीच विशेष तौर पर बीपी के बारे में बातचीत नहीं हुई.

ब्रिटिश अधिकारियों का दावा है कि लगभग 30 मिनट तक गर्मजोशी से बातचीत हुई.

प्रधानमंत्री के दफ़्तर 10 डावनिंग स्ट्रीट से जारी बयान में कहा गया है कि राष्ट्रपति ओबामा ने ये माना है कि बीपी एक बहुराष्ट्रीय कंपनी है और उनकी (ओबामा की) नाराज़गी का बीपी कंपनी के राष्ट्रीयता से कोई संबंध नहीं है.

बयान में कहा गया है,'' दोनों नेताओं ने सहमति जताई है कि बीपी को पूरी गंभीरता से काम करते रहना चाहिए और बीपी को ये सुनिश्चित करना चाहिए कि इस तबाही के दुष्प्रभाव से निबटने के लिए जल्द से जल्द हर संभव क़दम उठाए जाएं.प्रधानमंत्री ने ब्रिटेन, अमरीका तथा दूसरे देशों के लिए बीपी के आर्थिक महत्व पर ज़ोर दिया. राष्ट्रपति ओबामा ने साफ़ किया कि बीपी के महत्व को कम करने का उनका कोई उद्देश्य नहीं है. राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने अमरीका और ब्रिटेन के बीच अनूठे रिश्ते की ताक़त में अपने विश्वास को दोहराया''.

बयान के अनुसार डेविड कैमरन प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली बार 20 जुलाई को अमरीका का दौरा करेंगे.

बीपी के बारे में और ख़ासकर कंपनी के एक बड़े अधिकारी टोनी हेवार्ड के बारे में ओबामा के कड़े बयानों को ब्रिटेन के कुछ उधोगपतियों ने ब्रिटेन विरोधी क़रार दिया था.

ओबामा के तेवर सख़्त

उधर अमरीका में एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि ओबामा ने काफ़ी सख़्त संदेश दिए हैं.

अधिकारी के अनुसार, ''ओबामा ने कहा है कि तेल रिसाव से प्रभावित लोगों के प्रति बीपी को अपने दायित्व को ज़रूर निभाना चाहिए और हम सब इस बात के लिए ज़ोर देंगे कि रिसाव को रोकने,सफ़ाई करने, इससे पर्यावरण को हुए नुक़सान तथा लाखों रुपए के मुआवज़े के भुगतान के लिए सब कुछ किया जाना चाहिए''.

राष्ट्रपति ओबामा सोमवार को तेल रिसाव से प्रभावित क्षेत्रों का चौथी बार दौरा करेंगे.

इस बीच बीपी ने कहा है कि तेल रिसाव को रोकने के लिए अगले महिने तक दो और टैंकरों का इस्तेमाल किया जाएगा.

कंपनी सोमवार को बोर्ड की बैठक करेगी जिसमें शेयरधारकों को दिए जाने वाले मुनाफ़े को फ़िलहाल रोकने के बारे में फ़ैसला लिया जाएगा.

संबंधित समाचार