तेल कंपनियों की तैयारी काग़ज़ी: अमरीकी सांसद

सीनेटर एडवर्ड मार्के
Image caption अमरीकी सांसदों ने तेल कंपनियों को आड़े हाथों लिया

अमरीकी सांसदों ने आरोप लगाया है कि प्रमुख तेल कंपनियाँ किसी भी पर्यावरण दुर्घटना के लिए तैयार नहीं हैं. उनका कहना था तेल कंपनी बीपी की भी यही स्थिति है.

अमरीकी कांग्रेस के सदस्यों ने तेल कंपनियों के प्रमुखों को तलब किया था.

इधर बराक ओबामा मंगलवार को टेलीविज़न पर राष्ट्र को संबोधित करने वाले हैं.

सीनेटर एडवर्ड मार्के ने ऊर्जा और वाणिज्य की उपसमिति को बताया कि तेल कंपनियों की आपात तैयारी केवल काग़ज़ी है.

तेल कंपनी बीपी के अमरीका के प्रमुख लैमर मैके ने तेल रिसाव के लिए माफ़ी माँगी लेकिन उन्होंने इस बात की पुष्टि नहीं की कि कंपनी इसके लिए कोई विशेष कोष स्थापित करेगी.

राष्ट्रपति ओबामा ने प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने के बाद कहा कि सरकार इससे प्रभावित लोगों को ख्याल हर हालत में रखेगी.

उनका कहना था,''मैं आपके साथ हूँ और मेरा प्रशासन भी आपके साथ है, और हम ये सुनिश्चित करेंगे कि बीपी तेल रिसाव से हुए नुक़सान की भरपाई करे.''

कड़े नियंत्रण की तैयारी

ग़ौरतलब है कि मैक्सिको की खाड़ी में हो रहे तेल के रिसाव के बाद दुनियाभर में सरकारें गहरे समुद्र में तेल की खुदाई पर नियंत्रण कड़े करने पर विचार कर रही हैं.

रिसाव के लिए ज़िम्मेदार कंपनी बीपी का कहना है कि ये एक असामान्य घटना है.

मैक्सिको की खाड़ी की दुर्घटना के बाद गहरे समुद्र में तेल की खोज पर कई देशों ने नियंत्रण कड़े करने शुरू कर दिए हैं.

लेकिन तेल से जुड़ी वित्तीय आयामों की वजह से कोई देश इस खुदाई पर लंबे समय तक रोक लगाता नहीं दिखता.

सेन्टर फॉर ग्लोबल एनर्जी स्टडीज़ में वरिष्ठ विश्लेषक जूलियन ली का कहना है,'' ध्यान से देखें तो जिन देशों में गहरे समुद्र में तेल की खुदाई हो रही है उनमें तेल सरकारी राजस्व के लिए बहुत ज़रूरी है. अगर आर्थिक घाटे को किनारे रखते हुए ये देश खुदाई पर पूरी रोक लगाने के बारे में सोचें भी तो इसका असर हम पर होगा क्योंकि तेल की कीमतें बहुत बढ़ जाएंगी.''

ग़ौरतलब है कि दुनियाभर में होनेवाली तेल की खुदाई में से 10 फीसदी गहरे समुद्र में हो रही है.

पर्यावरण का 9/11

इसके पहले अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने मैक्सिको की खाड़ी में हुए तेल रिसाव को पर्यावरण के 9/11 की संज्ञा दी है और साफ़ ईंधन पर ज़ोर दिया है.

Image caption तेल के कुँए में हुए विस्फोट के बाद अब तक हज़ारों बैरल तेल समुद्र में फैल चुका है

उन्होंने अपनी पार्टी और कार्यकर्ताओं से साफ़ ईंधन के अभियान को समर्थन देने की अपील की है.

उन्होंने कहा है कि जिस तरह से 9/11 ने सुरक्षा को लेकर अमरीकी दृष्टिकोण को बदल दिया उसी तरह से तेल रिसाव की घटना से पर्यावरण को लेकर अमरीकी नज़रिया बदलने जा रहा है.

तेल रिसाव से प्रभावित मिसीसिपी, अलाबामा और फ़्लोरिडा में चौथी बार दौरे पर पहुँचे बराक ओबामा ने अपनी पार्टी और समर्थकों से कहा है कि वे साफ़ ईंधन के 'नए भविष्य' को समर्थन दें.

उल्लेखनीय है कि गत अप्रैल में मैक्सिको की खाड़ी में एक तेल के कुँए में हुए विस्फोट के बाद अब तक हज़ारों बैरल तेल समुद्र में फैल चुका है.

इस बीच बीपी ने कहा है कि तेल की सफ़ाई का ख़र्च बढ़कर 1.6 अरब डॉलर हो चुका है. इसके कारण लंदन और न्यूयॉर्क में बीपी के शेयरों के दामों में गिरावट आई है.

संबंधित समाचार