पुलिस मुठभेड़ में आठ नक्सली मरे

green hunt
Image caption मुठभेड में आठ माओवादियों मारे गए है

पश्चिम बंगाल पुलिस का कहना है कि बुधवार सुबह हुई मुठभेड में आठ माओवादी मारे गए है.

पश्चिम बंगाल पुलिस ने कहा है कि पश्चिमी मिदनापुर के जंगलों मे हुई इस मुठभेड में कई माओवादी घायल भी हुए हैं.

पश्चिमी मिदनापुर के पुलिस प्रमुख मनोज वर्मा ने बीबीसी को बताया कि पश्चिम बंगाल पुलिस और केंद्रीय सुरक्षा बलों ने लालगढ के करीब रजना के जंगलों में माओवादियों के अड्डे पर हमला किया.

मनोज वर्मा ने कहा " हमने जल्द सुबह हमला किया. हमे भरोसा है कि हमने 8 माओवादियों को मार गिराया है जिसमे 3 महिला है. अब हमने शव भी हासिल कर लिए है."

"हमने हथियारों का जखीरा भी बरामद किया है जिसमे एके-47 राईफल, एक एसएलआर और कुछ पिस्टल और विस्फोटक शामिल है"

मनोज वर्मा ने बीबीसी के बताया कि ये हथियार पिछले दिनों पुलिस से लूटे गए हथियार हो सकते है.

ये मुठभेड लगभग चार घटें चली और ज्यादातर माओवादी नज़दीकी जंगलो में भाग गए.

पश्चिम बंगाल मे ये कार्रवाई सुरक्षा बलों की सबसे बडी सफलता है क्योंकि यहां अक्सर पुलिस मार खाती रही है.

फरवरी मे ही पश्चिमी मिदनापुर ज़िले में राज्य के अर्ध-सैनिक बल इस्टर्न फ़्रंटियर राईफल्स के 24 जवानों की मौत हो गई थी जब सियालदह में माओवादियों ने अर्धसैनिक बलों के कैंप पर हमला कर दिया था.

मनोज वर्मा ने बताया कि ये कार्रवाई नज़दीकी गाँव के 13 लोगो से पूछताछ से हासिल विशेष जानकारी के आधार पर की गई है.

पुलिस ने पीपल्स कमेटी एगेंस्ट पुलिस एट्रोसिटिज़ यानी पीसीपीए के 10 सदस्यों के साथ साथ कोलकाता मे एक वैज्ञानिक, कॉलेज के एक प्राध्यापक और एक लेखक को भी गिरफ्तार किया है.

इन सभी को माओवादियो का हिमायती माना जा रहा है.

पीसीपीए ने गिरफ्ता़र किए गए लोगों के छोड़े जाने की मांग को लेकर 18 जून को एक दिन के बंद का ऐलान किया है.

संबंधित समाचार