बापी महतो जमशेदपुर में गिरफ्तार

Image caption ज्ञानेश्वरी एक्सप्रेस झाडग्राम के पास दुर्घटनाग्रस्त हुई थी.

झाड़ग्राम के पास हुए ज्ञानेश्वरी एक्सप्रेस हादसे के कथित अभियुक्त बापी महतो को जमशेदपुर के एक लॉज से गिरफ़्तार कर लिया गया है.

पुलिस का कहना है कि बापी को जमशेदपुर और पश्चिम बंगाल पुलिस के संयुक्त अभियान में गिरफ़्तार किया गया है. बापी को शरण देने वाले उनके रिश्तेदार बिमल महतो को भी गिरफ़्तार कर लिया गया है.

पश्चिम बंगाल पुलिस के अधिकारी वक्खार राजा ने बताया कि झारखंड पुलिस ने उनके अभियान में पूरा सहयोग दिया है.

उन्होंने कहा, ''हमें बापी कहां छुपा है ये पता था लेकिन झारखंड पुलिस ने भी मदद की. महतो एक गेस्ट हाउस में छुपा था. ''

राजा ने बताया कि बापी को सोमवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा और उसके बाद उसे सीबीआई को सौंप दिया जाएगा.

सीबीआई ने बापी महतो, उमाकांत महतो और असित महतो के बारे मे किसी भी तरह की सूचना देने वालों को एक लाख रुपए का ईनाम की घोषणा कर रखी है.

उमाकांत और असित अभी भी फरार हैं.

बापी महतो पीपुल्स कमिटी अगेनस्ट पुलिस एटरोसिटीस के शीर्ष नेताओं में से हैं और ये समूह जंगलमहल के जंगलों में सक्रिय है.

बताया जाता है कि बापी ने ही रेल पटरियों को क्षतिग्रस्त किया था जिसके कारण ज्ञानेश्वरी एक्सप्रेस दुर्घटना हुई जिसमें 150 लोग मारे गए थे और कई अन्य घायल हुए थे.

संबंधित समाचार