जसवंत भाजपा में वापस लौटे

  • 25 जून 2010

नौ महीने पहले भारतीय जनता पार्टी से वरिष्ठ नेता जसवंत सिंह को निकाले जाने के बाद पार्टी ने दोबारा उन्हें पार्टी में शामिल कर लिया है.

जसवंत सिंह के लिए नई दिल्ली में हुए विशेष समारोह में पार्टी अध्यक्ष नीतीन गडकरी, सुषमा स्वराज, लाल कृष्ण आडवाणी और कई वरिष्ठ नेता शामिल हुए.

भाजपा मुख्यालय पर पत्रकारों से बात करते हुए जसवंत सिंह ने कहा कि पार्टी में वापस आकर उन्हें अच्छा लग रहा है.

उन्होंने कहा, "जाने-पहचाने माहौल में जाने-पहचाने चेहरों के बीच लौटकर अच्छा महसूस हो रहा है. मैं आडवाणी जी का शुक्रिया अदा करता हूँ जिन्होंने इस बात में पहल की और मुझे फ़ोन करके कहा कि मैं आकर उनसे मिलूँ."

वहीं पार्टी अध्यक्ष गडकरी ने कहा कि ये सबके लिए ख़ुशी का दिन है. जसवंत सिंह के साथ पार्टी के हुए विवाद पर गडकरी ने कहा कि जो कुछ हुआ वो पुरानी बातें हैं और सबको वर्तमान की ओर देखना चाहिए.

जबकि आडवाणी ने कहा कि ख़ुशी के साथ-साथ वे राहत भी महसूस कर रहे हैं.

पिछले साल जसवंत सिंह की किताब आई थी जिसमें उन्होंने लिखा था कि मोहम्मद अली जिन्ना धर्मनिरपेक्ष नेता थे. इस विवाद के बाद पिछले साल अगस्त में शिमला में हो रही भाजपा की चिंतन बैठक से पहले जसवंत सिंह को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया था.

लेकिन पिछले कुछ दिनों से ही ख़बरें आ रही थीं कि जसवंत सिंह को फिर से पार्टी में शामिल किया जा सकता है.

कुछ दिन पहले लाल कृष्ण आडवाणी और जसवंत सिंह एक ही जहाज़ से जयपुर भी गए थे. तब से ही अटकलें लगाई जा रही थीं कि अब जसवंत सिंह की वापसी हो सकती है.

संबंधित समाचार