हथियारों से लदे जहाज़ की जाँच-पड़ताल

  • 27 जून 2010

भारतीय अधिकारियों ने पाकिस्तान जा रहे एक जहाज़ को जाँच-पड़ताल के लिए अपने नियंत्रण में ले लिया है. जहाज़ पर बड़ी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद लदा हुआ है.

बांग्लादेश से पाकिस्तान के कराची बंदरगाह के लिए रवाना हुए जहाज़ को एक ख़ुफ़िया सूचना के आधार पर तटरक्षकों ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल में 24 परगना के पास रोका था.

आरंभिक जाँच में हथियारों की खेप से जुड़े दस्तावेज़ों के अपूर्ण पाए जाने के बाद विस्तृत छानबीन के लिए जहाज़ को शनिवार को कोलकाता बंदरगाह लाया गया.

पश्चिम बंगाल के पुलिस महानिदेशक भूपिन्दर सिंह ने इस बारे में पत्रकारों को बताया, "जहाज़ के कप्तान ने पुलिस और कस्टम विभाग के अधिकारियों को जो काग़ज़ात दिखाए हैं वो अधूरे हैं."

उन्होंने कहा कि काग़ज़ातों में जहाज़ पर दो कंटेनरों के भीतर भारी मात्रा में रॉकेट लॉन्चर और एंटीएयरक्राफ़्ट गन जैसे हथियारों और विस्फोटकों के लदे होने का ज़िक्र नहीं है.

सिंह ने कहा कि अब मामले की तह तक पहुँचने के लिए 153 मीटर लंबे जहाज़ पर लदे हर कंटेनर की विस्तृत छानबीन की जाएगी.

लाइबीरिया से कराची

एमवी इजीयन ग्लोरी नामक जहाज़ पनामा में रजिस्टर्ड बताया जाता है.

इसने अपनी यात्रा लाइबेरिया से शुरू की थी और मारीशस होता हुआ चटगाँव पहुँचा था. इसका अगला गंतव्य कराची था.

अधिकारी जहाज़ के काग़ज़ातों की जाँच-पड़ताल कर ये जानने की कोशिश कर रहे हैं कि हथियारों की खेप किनके लिए है.

संभावना जताई जा रही है कि पाकिस्तान की सेना ने ये हथियार मंगाए होंगे.

भारतीय अधिकारियों की दिलचस्पी ये जानने में भी है कि पाकिस्तान जा रहा जहाज़ भारतीय जलसीमा होकर क्यों गुज़र रहा था.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार