रोहतांग सुरंग निर्माण शुरू

  • 28 जून 2010
लेह
Image caption इस समय यह मार्ग छह महीने बंद रहता है

लेह-मनाली राजमार्ग पर रोहतांग सुरंग के निर्माण का काम सोमवार से शुरू हो गया है.

राष्ट्रीय सलाहकार परिषद की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने रोहतांग सुरंग के निर्माण शुरू होने की घोषणा की.

सड़क संगठन इस सुरंग का निर्माण कर रहा है. इस सुरंग की लंबाई 8.8 किलोमीटर होगी और इसे 2015 तक पूरा किए जाने का लक्ष्य रखा गया है.

सुरंग बनने के बाद मनाली और केलांग की दूरी 60 किलोमीटर कम हो जाएगी और यह सड़क सभी मौसमों के लिए खुल जाएगी.

इस सुरंग की आधारशिला 2002 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी ने रखी थी. इसकी कल्पना 1983 में इंदिरा गांधी ने की थी जिसे आगे चलकर 1987 में तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने मंज़ूरी दी थी.

मुश्किल भरा

रोहतांग दर्रा 3,978 मीटर ऊंचाई पर स्थित है, यहां पर सड़क निर्माण का काम काफी मुश्किल भरा है.

समारोह में बोलते हुए सोनिया गांधी ने कहा, "सामरिक दृष्टि से अहम लद्दाख क्षेत्र में यह सुरंग नागरिकों को हर मौसम में आवाजाही के लिए सड़क मार्ग प्रदान करेगा. बर्फ़बारी के समय जब रोहतांग दर्रा छह महीने से अधिक समय तक पूरी दुनिया से कट जाता है, ऐसे में यह सुरंग लोगों को स्वास्थ्य, शिक्षा, रोजगार और विकास के अवसर मुहैया कराएगा."

रोहतांग सुरंग के निर्माण की निगरानी और उसमें आने वाली बाधाओं को दूर करने के लिए रक्षा मंत्रालय ने अतिरिक्त सचिव की अध्यक्षता में एक निगरानी समिति का गठन भी किया है.

इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल और रक्षा मंत्री एकके एंटनी भी मौजूद थे.

संबंधित समाचार