सीबीआई का दुरुपयोग: भाजपा

अमित शाह
Image caption अमित शाह के ख़िलाफ़ सीबीआई ने आरोप पत्र भी दाखिल कर दिया है

सोहराबुद्दीन मामले में गुजरात के गृहराज्यमंत्री अमित शाह को सीबीआई के समन करने के बाद भाजपा ने केंद्र की यूपीए सरकार पर सीबीआई के दुरुपयोग करने का आरोप लगाया है.

भाजपा नेताओं ने कहा है कि अपना विरोध दर्ज करवाने के लिए वे प्रधानमंत्री के दोपहर भोज का बहिष्कार कर रहे हैं.

दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस में भाजपा नेता सुषमा स्वराज और अरुण जेटली ने कहा कि उन्हें, लालकृष्ण आडवाणी को और पार्टी अध्यक्ष नितिन गडकरी को प्रधानमंत्री की ओर से भोज का आमंत्रण मिला था जिसे उन्हें स्वीकार भी कर लिया था.

लेकिन अब वे उसमें नहीं जा रहे हैं.

लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज ने कहा, "वरिष्ठ नेताओं की गुरुवार को हुई बैठक के बाद हमने भोज में शामिल न होने का फ़ैसला किया और शुक्रवार की सुबह इसकी सूचना भी भिजवा दी गई. ऐसा हम गुजरात में सीबीआई के दुरुपयोग के विरोध स्वरुप कर रहे हैं."

उन्होंने कहा, " जिस तरह कांग्रेस गुजरात सरकार और भाजपा को बदनाम कर रही है, उससे माहौल सौहार्द्रपूर्ण नहीं रहा और इस सूरत में प्रधानमंत्री से बातचीत का कोई मतलब नहीं है."

जबकि राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरुण जेटली ने कहा कि ये सब भाजपा पर दबाव बनाने की चाल है.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस एक बड़ा ख़राब उदहारण पेश कर रही है और सीबीआई का इस्तेमाल भाजपा को बदनाम करने के लिए कर रही है.

उनका कहना है कि 2जी स्पेक्ट्रम मामले की जाँच ठंडे बस्ते में डाल दी गई.

अरुण जेटली ने कहा कि सवाल तो माओवादी नेता आज़ाद की मुठभेड में भी उठ रहे हैं, तो क्या इस मामले में भी सीबीआई गृह मंत्री पी चिदंबरम के खिलाफ भी मामला दर्ज होगा.

अमित शाह के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में अरुण जेटली ने कहा कि उन्हें अपने बचाव में सभी क़ानूनी क़दम उठाने का हक है.

संबंधित समाचार