कोर्ट की अवमानना: कांग्रेस

सोहराबुद्दीन
Image caption आरोप है कि गुजरात पुलिस ने सोहराबुद्दीन की फ़र्ज़ी मुठभेड़ में हत्या कर दी

सोहराबुद्दीन के मामले में सीबीआई का दुरुपयोग किए जाने के भाजपा के आरोप पर कांग्रेस ने कहा है कि भाजपा इस मसले पर प्रेस कॉन्फ़्रेंस करके जाँचकर्ताओं पर दबाव बनाने की कोशिश कर रही है.

कांग्रेस के प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा, "यह अभूतपूर्व है कि ऐसे मसले पर संवाददाता सम्मेलन बुलाया गया. पहले तो गुजरात सरकार ने कई महीने तक दलील दी कि हमने जांच पूरी कर ली है और इसे सीबीआई को न सौंपा जाए. इसके बावजूद उच्चतम न्यायालय ने गुजरात पुलिस को इस मामले को सीबीआई को सौंपने का निर्देश दिया."

उन्होंने कहा, "सुप्रीम कोर्ट की जांच में पलीता लगाने और चल रहे जांच में रोड़ा अटकाने के लिए भाजपा अपने वरिष्ठ नेताओं को आगे कर रही है. यह न्यायालय की अवमानना है."

प्रधानमंत्री के ओर से दोपहर के भोज को भाजपा की ओर से अस्वीकार किए जाने को अशिष्टतापूर्ण करार देते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा का नेतृत्व सोहराबुद्दीन मुठभेड़ मामले में जांच को लेकर डर गया है.

उन्होंने कहा कि भाजपा नेतृत्व गुजरात के मंत्री अमित शाह के इर्द-गिर्द ऐसा घेरा बनाना चाहता है कि उन तक कानून के हाथ पहुंच न सकें.

अनुचित आचरण

सिंघवी ने कहा, "भाजपा नेताओं का आचरण चकित और परेशान कर देने वाला है और इस पर कोई स्पष्टीकरण दिया ही नहीं जा सकता. इस तरह के क्रियाकलाप से भाजपा अनुचित आचरण की नई मिसाल पेश कर रही है."

उन्होंने कहा कि अब जब सुप्रीम कोर्ट की जांच पूरी हो चुकी है, तो ऐसे में भाजपा नेताओं का रुख जांचकर्ताओं को प्रभावित करने के लिए धड़ल्ले से की जाने वाली कोशिश है.

उन्होंने कहा कि अमित शाह से पूछताछ और प्रधानमंत्री की ओर से दिए गए भोज को जोड़ना काफ़ी अशिष्टतापूर्ण और बुरा है.

सिंघवी ने कहा कि प्रधानमंत्री चाहते थे कि संसद का संचालन सुचारु रूप से हो जबकि भाजपा ने इस सकारात्मक सहयोग की भावना को अस्वीकार कर दिया है.

संबंधित समाचार