बारूदी सुरंग के धमाके में पाँच जवान मारे गए

  • 30 जुलाई 2010
अल्फ़ा अलगाववादी
Image caption असम के विभिन्न हिस्सों में कई अलगाववादी गुट सक्रिय हैं

असम में गुवहाटी से लगभग 200 किलोमीटर दूर गोआलपारा नगर के पास एक बारूदी सुरंग का धमाका हुआ है जिसमें अर्धसैनिक बल के पाँच जवान मारे गए हैं और 25 अन्य लोग घायल हो गए हैं.

असम में दशकों से सक्रिय अलगाववादी संगठन अल्फ़ा ने इस धमाके की ज़िम्मेदारी ली है.

भारत की स्वतंत्रता के बाद से असम में अनेक अलगाववादी विद्रोहियों के गुट सक्रिय हैं.

केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल (सीआरपीएफ़) के जवान दो बसों में गोआलपारा के पास से गुज़र रहे थे जब बारूदी सुरंग का धमाका हुआ.

चार जवानों की घटनास्थल पर ही मृत्यु हो गई जबकि गंभीर रूप से घायल कई जवानों और आम नागरिकों को पास के एक अस्पताल ले जाया गया है.

गोआलपारा के ज़िला पुलिस के प्रमुख लुई आइंद ने समाचार एजेंसी एपी को बताया, "जवान दो बसों में जा रहे थे जब रिमोट के ज़रिए बारूदी सुरंग का विस्फोट हुआ और चार की घटनास्थल पर ही मृत्यु हो गई. फ़िलहाल ये स्पष्ट नहीं है कि क्या दोनों बसों को धमाके से क्षति पहुँची या एक बस को ही नुकसान पहुँचा."

गोआलपारा में रहने वाले लोगों में अधिकतर बांग्लादेशी हैं जो अलग-अलग कारणों से वहाँ से भाग कर भारत में बस गए हैं.

संबंधित समाचार