मुंबई में हज़ारों मलेरिया की चपेट में

Image caption केवल जुलाई में मलेरिया से 18 मौतें हो चुकी हैं.

मुंबई और आसपास के इलाकों में सिर्फ़ जुलाई के महीने में 17,000 से ज़्यादा लोग मलेरिया से प्रभावित हुए हैं.

राज्य के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार इस साल जून तक मलेरिया से 24 लोगों की मृत्यु हो चुकी है, जबकि सिर्फ़ जुलाई में ही 18 लोगों की मौत मलेरिया से हुई.

मलेरिया से सबसे ज़्यादा जो इलाके प्रभावित हुए हैं वो हैं महालक्ष्मी, बायकला, धारावी, रे रोड, विकरोली, चेंबूर, शिवड़ी और घाटकोपर.

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री सुरेश शेट्टी कहते हैं कि मुबंई और आसपास के इलाकों में पिछले तीन सालों से मलेरिया से प्रभावित लोगों की संख्या बढ़ रही है.

उन्होंने कहा कि पिछले साल सितंबर और अक्टूबर में करीब 200 लोगों को मौत हुई थी और इस साल सरकार को सावधानी बरतनी होगी.

सफ़ाई की ज़रूरत

बढ़ती संख्या का कारण पूछे जाने पर सुरेश शेट्टी ने बीबीसी को बताया, “जब आप पानी से फ़ैलने वाली या वेक्टर बॉर्न बीमारियों की बात करते हैं, तो प्रभावित लोगों की संख्या ऊपर-नीचे होती रहती है, साथ ही बीमारी के स्वरूप में भी बदलाव आते हैं. आप कारण नहीं दे सकते कि ऐसा क्यों हो रहा है.’

Image caption इस बार मलेरिया की चपेट में अमीर और गरीब दोनों ही हैं.

सुरेश शेट्टी के अनुसार इन्हें रोकने के लिए सफ़ाई की बहुत ज़रूरत है.

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सरकार और मुंबई महानगरपालिका मलेरिया को रोकने के लिए कदम उठा रहे हैं और बड़े पैमाने पर सफ़ाई अभियान चलाया गया है.

सुरेश शेट्टी ने कहा, “कूड़े वाले जगहों की सफ़ाई की जा रही है, नालों को साफ़ किया जा रहा है. ऐसी जगहों पर जहाँ पानी इकट्ठा हो जाता है उन्हें भी साफ़ किया जा रहा है. ऐसी जगहों पर जहाँ नई इमारतों का काम चल रहा है, वहाँ भी सफ़ाई की जा रही है.’

वैसे आम धारणा ये रहती है कि मलेरिया से झोपड़पट्टियों में रहने वाले लोग ज़्यादा प्रभावित होते हैं लेकिन घाटकोपर पूर्व के डॉक्टर मिलन सेठ कहते हैं कि मलेरिया शहर के गरीब इलाकों में ही नहीं, अमीर इलाकों में भी फैल रहा है.

वो कहते हैं, “ऐसा लगता है कि हम अफ़्रीकी देशों में रहते हैं. मलेरिया के कीटाणुओं को मारना अब मुश्किल होता जा रहा है क्योंकि उनमें परिवर्तन आ रहा है. मैं जिस इलाके में रहता हूं, वहाँ अमीर लोग रहते हैं, लेकिन करीब 70-80 लोगों को मैं रोज़ मलेरिया की दवा देता हूं.’

संबंधित समाचार