विशिष्ट शिकायत नहीं हैं: रेड्डी

निर्माणाधीन स्टेडियम
Image caption शहरी विकास मंत्री ने कहा है कि शिकायत आने पर कठोर कार्रवाई की जाएगी.

सरकार ने राष्ट्रमंडल खेलों के आयोजन में अनियमितताओं को लेकर मीडिया में लगाए जा रहे आरोपों को निराधार बताया है.

केंद्रीय शहरी विकास मंत्री और राष्ट्रमंडल खेलों पर गठित मंत्री समूह के अध्यक्ष जयपाल रेड्डी ने गुरुवार को कहा कि अगर उसका ध्यान किसी ख़ास अनियमितता की ओर दिलाया जाता है तो कठोर कार्रवाई की जाएगी.

संसद भवन के बाहर जयपाल रेड्डी ने कहा,'' आरोपों की यह बौछार निराधार है. वहाँ भ्रष्टाचार हो सकता है. लेकिन अब या बाद में हमारा ध्यान अगर किसी विशिष्ट अनियमितता की ओर दिलाया जाता है तो कठोर कार्रवाई तत्काल शुरू की जाएगी.''

समिति का गठन नहीं

राष्ट्रमंडल खेलों की आयोजन समिति पर लगाए जा रहे आरोपों से संबंधित एक सवाल के जवाब में रेड्डी ने कहा,''कोई विशिष्ट शिकायत कहाँ कर रहा है? मीडिया में आयोजन समिति से संबंधित जो भी आरोप लगाए गए हैं. संबंधित एजंसियाँ उन्हें देख रही हैं.''

केंद्रीय मंत्री ने खेल के आयोजन के लिए एशियाई खेलों की तर्ज पर एक समिति गठित करने के प्रस्ताव को नजरअंदाज करते हुए कहा राष्ट्रमंडल खेलों के लिए यह संभव नहीं है.

उन्होंने कहा, ''इसमें एक क़ानूनी अड़चन हैं जिसे गिल (केंद्रीय खेल मंत्री) ने सदन में बताया है. भारत में ये खेल केवल आयोजन समिति ही करा सकती है. भारत ने राष्ट्रमंडल संघ के साथ समझौता किया है. सरकार उसे बदल पाने में सक्षम नहीं हैं''

तैयारियों के संबंध में जयपाल रेड्डी ने कहा कि सभी स्टेडियम तैयार हैं और एमटीएनएल के काम की वजह से कुछ कचरा पड़ा हुआ है.

खिलाड़ियों के लिए बन रहे खेल गाँव में अधूरे पड़े कामों के सवाल पर उन्होंने कहा,'' इसके लिए दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) ज़िम्मेदार है और हमने उसे काम पूरा करने के लिए कह रहे हैं.''

आश्वासन

इसके पहले केंद्रीय खेल मंत्री एमएस गिल ने राज्य सभा में सदस्यों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि राष्ट्रमंडल खेलों में भ्रष्टाचार संबंधी शिकायतों की जाँच कराई जाएगी.

उन्होंने कहा कि खेलों के आयोजन के संबंध में नई समिति गठन कर देना समस्या का समाधान नहीं है. उनका कहना था कि ये यूपीए या एनडीए के खेल नहीं हैं, ये देश के खेल हैं.

उनका कहना था कि खेलों में अब 60 से भी कम दिन रह गए हैं इसलिए अब हमें उसके स्वागत की तैयारी करनी चाहिए.

संबंधित समाचार