बाढ़ से बस्तर अलग-थलग पड़ा

इद्रावती (फ़ाइल फ़ोटो)
Image caption इंद्रावती सहित कई नदियाँ अभी भी ख़तरे के निशान से ऊपर बह रही हैं

छत्तीसगढ़ के बस्तर में तीन दिनों तक लगातार हुई बारिश की वजह से दर्जनों गाँव पानी में डूब गए हैं और उसका संपर्क आसपास के सभी इलाक़ों से कट गया है.

हेलीकॉप्टरों और मोटरबोट की मदद से बहुत से लोगों को बाढ़ग्रस्त इलाक़ों से बाहर निकाला गया है.

इलाक़े में 45 राहत शिविरों की स्थापना की गई है और वहाँ कोई दस हज़ार लोगों को लाया गया है.

हालांकि अभी भी इंद्रावती और सबरी सहित सभी नदियों में पानी ख़तरे के निशान से ऊपर बह रहा है लेकिन अधिकारियों का कहना है कि अब पानी उतरने लगा है.

बस्तर में शुक्रवार तक तीन दिनों में 20 से 30 सेंटीमीटर बारिश हुई है.

पानी की वजह से बस्तर का संपर्क महाराष्ट्र, उड़ीसा और आंध्र प्रदेश से भी कट गया.

दंतेवाड़ा-बीजापुर राजमार्ग पर भी यातायात रोकना पड़ा.

शुक्रवार से बारिश बंद होने के बाद कुछ मार्ग शनिवार को खुले हैं.

लेकिन इस बीच मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि आने वाले दो दिनों में और बारिश हो सकती है.

संबंधित समाचार