कश्मीर घाटी से कर्फ़्यू हटा

  • 8 अगस्त 2010
Image caption पिछले एक हफ़्ते में सरकारी संपत्ति को भी काफ़ी नुकसान पहुंचाया गया.

कई दिनों के बाद स्थिति में कुछ सुधार को देखते हुए रविवार को पूरी कश्मीर घाटी से कर्फ़्यू हटा लिया गया.

पुलिस का कहना था कि श्रीनगर शहर और घाटी के अन्य हिस्सों में काफ़ी हद तक शांति थी जिसके बाद कर्फ़्यू हटाने का फ़ैसला लिया गया.

राज्य के तीन ज़िलों—बदगाम, गंदरबल और कुपवारा—और श्रीनगर के कुछ हिस्सों से शनिवार को ही कर्फ़्यू हटा लिया गया था.

पुलिस का कहना है कि अब अनंतनाग, श्रीनगर, बारामूला, कुलगाम, बांदीपोरा, शोपियां और पुलवामा से भी कर्फ़्यू हटा लिया गया है.

हिंसक प्रदर्शनों और पुलिस की गोलीबारी के बाद पूरी कश्मीर घाटी में कर्फ़्यू लगा दिया गया था.

हिंसा में अबतक 33 लोग मारे गए हैं और सुरक्षाबलों समेत कई अन्य घायल हुए हैं.

हिंसा के ताज़ा दौर में प्रदर्शनकारियों ने सरकारी और पुलिस की इमारतों, रेलवे स्टेशनों और गाड़ियों पर हमले किए और आगजनी की.

इसके बाद हूरियत के अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी ने शांति की अपील करते हुए कहा कि सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने से आंदोलन को ही नुकसान पहुंचेगा.

चार अगस्त को केंद्रीय गृह मंत्री पी चिदंबरम ने भी शांति की अपील और कहा कि स्थिति सामान्य होने पर वो बातचीत की प्रक्रिया शुरू करेंगे.

पिछले हफ़्ते स्थिति गंभीर होते देख राज्य के मुख्यमंत्री ओमर अब्दुल्ला ने दिल्ली में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मुलाक़ात की. उन्होंने कहा कि राज्य में एक राजनीतिक पहल की ज़रूरत है लेकिन साथ ही उन्होंने ये भी स्पष्ट किया कि उसके लिए शांति बहान करनी होगी.

संबंधित समाचार