गिरिडीह में नक्सली हमला

  • 26 अगस्त 2010
नक्सली (फ़ाइल फ़ोटो)
Image caption जिस जगह पर हिंसा हुई उसे नक्सलियों का गढ़ माना जाता है

झारखंड के गिरिडीह ज़िले में नक्सलियों या माओवादियों ने एक थाने पर हमला किया और कई ट्रकों को जला दिया.

ख़बरें हैं कि रात भर चली हिंसा की घटनाओं में उन्होंने झारखंड विकास मोर्चा के कार्यालय को भी उड़ा दिया.

माना जा रहा है कि अपने दो साथियों की गिरफ़्तारी के विरोध में नक्सलियों ने ये हिंसा की है.

रात भर तांडव

बीबीसी संवाददाता सलमान रावी के अनुसार यह हमला गिरिडीह ज़िला मुख्यालय से क़रीब 20 किलोमीटर दूर पीरतांड थाने में हुआ.

पीरतांड को झारखंड में नक्सली गतिविधियों को गढ़ माना जाता रहा है.

वहाँ बुधवार की रात को नक्सलियों ने हमला किया. बताया जा रहा है कि पुलिस ने भी जवाब में गोलियाँ चलाईं.

इस थाने से कुछ दूर गिरिडीह-धनबाद राष्ट्रीय राजमार्ग पर नक्सली रात भर ट्रकों को रोकते रहे और ड्राइवर-क्लीनर को उतार कर उनके साथ मारपीट की.

नक्सलियों ने कम से कम आठ ट्रकों में आग लगा दी.

इसके अलावा उन्होंने पीरतांड में पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी के राजनीतिक दल झारखंड विकास मोर्चा के कार्यालय को उड़ा दिया है.

स्थानीय संवाददाताओं का कहना है कि लगभग रात भर चली इस हिंसा के बीच पुलिस वहाँ नहीं पहुँची.

बताया जा रहा है कि पुलिस ने दशरथ मांझी सहित दो नक्सली नेताओं को गिरफ़्तार किया था. इसी गिरफ़्तारी के विरोध में नक्सलियों ने यह हिंसा की है.

संबंधित समाचार