हीरो बनने का सपना 'क्लीन बोल्ड'

मोहम्मद आसिफ़
Image caption सट्टेबाज़ी के आरोप के बाद मोहम्मद आसिफ़ को मलयालम फ़िल्म से निकाल दिया गया है.

पाकिस्तानी क्रिकेटर मोहम्मद आसिफ़ को एक भारतीय फ़िल्म में रोल मिला था लेकिन अब वो उस फ़िल्म से निकाल दिए गए हैं. फ़िल्म के निर्देशक ने बीबीसी से बातचीत में इस बात की पुष्टि की है.

ये फ़िल्म मलयालम में बनाई जाने वाली है. फ़िल्म का नाम है 'मड़ाविल्ली लिनाट्टमवरे' जिसका मतलब है 'इंद्रधनुष के आख़िर तक.'

फ़िल्म के निर्देशक कैथापराम दामोदरन नंबूदरी ने बीबीसी को बताया कि उन्होंने मोहम्मद आसिफ़ को अपनी पहली निर्देशित फ़िल्म के लिए दो महीने पहले साइन किया था.

उन्होंने कहा, "वो दोस्ताना व्यवहार वाले इंसान हैं. मैं बहुत हैरान हो गया था जब मैंने उनपर लगे आरोपों के बारे में सुना, इसलिए मैंने उन्हें फ़िल्म से हटा दिया है."

अकरम की जगह आसिफ़

फ़िल्म की कहानी में दिखाया गया है कि एक पाकिस्तानी क्रिकेटर भारत के दक्षिणी राज्य केरल के एक कोचिंग कैंप में आता है. इस फ़िल्म में मोहम्मद आसिफ़ को अपनी असल ज़िंदगी की भूमिका में ही रहना था यानी एक पाकिस्तानी क्रिकेटर के रूप में.

निर्देशक कैथापराम ने बताया कि इस फ़िल्म में क्रिकेट के ज़रिए दोस्ती का पैग़ाम देने की कोशिश की गई है.

उन्होंने बीबीसी को बताया कि मोहम्मद आसिफ़ को उनके बेटे ने लंदन में हुए एक स्क्रीन टेस्ट के बाद चुना था और इस फ़िल्म की शूटिंग के लिए आसिफ़ को अगले महीने 25 दिन के लिए केरल आना था.

इस फ़िल्म के लिए पहले पाकिस्तान के पूर्व कप्तान वसीम अकरम से बात की गई थी. वसीम अकरम के मना करने पर मोहम्मद आसिफ़ को लिया गया था.

मोहम्मद आसिफ़ को फ़िल्म में ख़ास रोल दिया गया था जो फ़िल्म का अहम हिस्सा था.

अब और कोई

निर्देशक ने बताया कि अब आसिफ़ की जगह पर किसी और को ढूंढा जा रहा है. उन्होंने कहा, "मेरे ज़ेहन मे दो-तीन पाकिस्तानी खिलाड़ियों के नाम घूम रहे हैं."

पिछले रविवार को लंदन के एक अख़बार ने आरोप लगाया था कि पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कप्तान सलमान बट्ट और दो गेंदबाज़ों मोहम्मद आसिफ़ और मोहम्मद आमिर को तय समय पर नो बॉल फेंकने के लिए पैसे दिए गए थे. उनसे पूछताछ चल रही है.

मोहम्मद आसिफ़ पाकिस्तान के उन चंद बड़े तेज़ गेंदबाज़ों में से हैं जो टेस्ट और एकदिवसीय मैचों में 150 से ज़्यादा विकेट ले चुके हैं.

संबंधित समाचार