दबंग ने किया स्कूल टीचर को परेशान

दबंग फ़िल्म से
Image caption सलमान खान की फ़िल्म दबंग में एक फोन नंबर है जो राजस्थान के एक ज़िले का है.

बॉलीवुड के सितारे सलमान खान की फिल्म 'दबंग' ने राजस्थान में एक स्कूल संचालक के लिए मुश्किल खड़ी कर दी है.

लोग दूर दूर से उन्हें फोन कर कभी सलमान खान से बात कराने की गुहार करते है और कभी मुन्नी बाई से बात कराने का फरमान सुनाते हैं.

बकौल स्कूल संचालक ओपी जाखड,ऐसा इसलिए हो रहा है,क्योंकि दबंग के पोस्टर पर उनके स्कूल के फ़ोन नंबर छप गए है.

वो कहते हैं, ‘‘मुझे नहीं पता ये कैसे हुआ, मगर मेरे स्कूल के और मेरे फोन नंबर पोस्टरों पर मुद्रित है. इसने मेरी नींद उदा रखी है. हर फ़ोन करने वाला कहता है सलमान से बात कराओ अरबाज़ है क्या और कभी फरमाइश करते है मुन्नी बाई से बात करा दो.’’

ये फिल्म जयपुर के एक प्रमुख सिनेमाघर में लगी है और दर्शको की भारी भीड़ उमड़ रही है. हमने जाकर देखा कुछ पोस्टरों पर सीकर ज़िले के फतेहपुर के नंबर मुद्रित है.

जाखड़ कहते हैं, ‘‘कहाँ कहाँ से फ़ोन नहीं आ रहे है. कोई मुंबई से तो कोई पटना और मुज़फ्फरनगर से. यहाँ तक कि चेन्नई और दार्जलिंग से भी फ़ोन आए हैं. कुछ ऐसे स्थानों से जिनके कभी मैंने नाम ही नहीं सुने. ये समस्या गत पन्द्रह बीस दिन से है. लेकिन जब से ये फिल्म रिलीज़ हुई है इनकी तादाद बढ़ गई है.’’

जाखड़ कहते है जब विनम्रता से फ़ोन करने वाले को सच्चाई बताओ तो वो कहते हैं आप क्यों झूठ बोलते हैं.

वो बताते हैं कि मना करने पर लोग दुबारा फ़ोन करते है और कहते है प्लीज सलमान भाई से बात करा दो.

स्कूल संचालक अब कानूनी सलाहकारों से मशविरा कर रहे है कि आखिर इससे कैसे निजात पाई जाए. वो बताते हैं, ''अभी सरकारी दफ्तरों में दो दिन की छुट्टी थी. सोमवार को सरकारी अधिकारियो से मैं शिकायत करूंगा.’’

ऐसी ही घटना आमिर ख़ान की फ़िल्म गज़नी के दौरान भी हुई थी जहां पोस्टरों पर आमिर ख़ान के शरीर पर एक मोबाइल नंबर लिखा हुआ था जो मुंबई के घाटकोपर इलाक़े की एक महिला का था और उन्हें भी काफ़ी परेशानी हुई थी.

दर्शकों की अपने चहेते अभिनेता से भांति भांति की मांग हो सकती है. लेकिन एक स्कूल संचालक के लिए जिसका इस फिल्म और फिल्म उद्योग से कोई वास्ता नहीं है, ऐसी मांगों को पूरा करना बहुत मुश्किल है क्योंकि वो सहज स्कूल संचालक है. सलमान की तरह दबंग तो नहीं.

संबंधित समाचार