बंद के दौरान हमले, आठ मौतें

नक्सली हमला (फ़ाइल फ़ोटो)
Image caption पिछले एक साल में नक्सलियों ने कई घातक हमले किए हैं

भारत के सात राज्यों में 48 घंटे के बंद की घोषणा के दौरान माओवादियों ने झारखंड और छत्तीसगढ़ में हमले किए हैं.

माओवादियों ने सोमवार की सुबह झारखंड के एक गांव में एक ही परिवार को पांच लोगों को मार दिया जबकि छत्तीसगढ़ में दो पुलिसकर्मियों को गोली मार दी. कल रात गढ़वा ज़िले में भी माओवादियों ने एक युवक की हत्या कर दी ती.

पहला हमला झारखंड के पारसनाथ और हज़ारीबाग रोड रेलवे स्टेशन के बीच किया गया जहां तीन मीटर तक रेलवे ट्रैक को विस्फोट कर उड़ा दिया गया.

घटना में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है.

दूसरा हमला छत्तीसगढ़ के बस्तर इलाक़े में हुआ है जहाँ नक्सलियों ने पुलिसवालों को निशाना बनाया.

पुलिसवाले जब शौच के लिए बाहर गए तो उन पर हमला कर दो पुलिस जवानों को मार दिया गया.

तीसरा हमला पश्चिम बंगाल में लालगढ़ से सटे नयाग्राम में किया गया.

नयाग्राम के पटीना इलाके में सीपीएम के पांच कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई है.ये सभी एक ही परिवार के सदस्य थे जिन्होंने रविवार को गांव में सीपीएम के समर्थन में रैली का आयोजन किया था.

नक्सलियों ने रविवार देर रात से सात राज्यों में 48 घंटे के बंद की घोषणा की है.

नक्सलियों ने इस बंद की घोषणा अपने नेता चेरुकुरी राजकुमार उर्फ़ आज़ाद की मौत का विरोध करने के लिए की है. पुलिस का दावा है कि उन्हें एक मुठभेड़ में मारा गया है लेकिन नक्सली इस मुठभेड़ पर सवाल उठा रहे हैं.

बीबीसी संवाददाता के अनुसार बंद के दौरान अपने साथियों को एक जुट करने के लिए पिछले कुछ दिनों में नक्सलियों ने इलाके में पोस्टर भी लगाए थे.

संदेशों के ज़रिए नक्सलियों ने इन पोस्टर पर लिखा कि ‘हम अपने नेता आज़ाद की मौत का बदला ले कर रहेंगे और जन मिलीशिया इसके लिए तैयार रहे'.

कई ट्रेनें रुकीं

करमबाग हॉल्ट स्टेशन के पास रविवार को देर रात क़रीब दो बजे किया गया. जिससे दिल्ली-हावड़ा रूट पर दिल्ली की ओर जाने वाला अपरूट क्षतिग्रस्त हो गया.

इसके कारण इस रूट पर चलने वाली कई ट्रेनों को रोक दिया गया है और कई देर से चल रही हैं.

देरी से चल रहे ट्रेनों में कालका-हावड़ा मेल, पुरी-नीलांचल एक्सप्रेस, हावड़ा-इंदौर शिप्रा एक्सप्रेस शामिल हैं.

धमाका इतना ज़बर्दस्त था कि वहां से गुज़र रही एक मालगाड़ी के दो डिब्बे पटरी से उतर गए.

घटना के बाद धनबाद मंडल के रेलवे अधिकारियों की देखरेख में ट्रैक की मरम्मत का काम शुरु कर दिया गया है.

उधर छत्तीसगढ़ के बस्तर इलाक़े में दंतेवाड़ा से लगभग 90 किलोमीटर दूर भेज्जी में पुलिसवालों पर हमले की खबर है.

माना जा रहा है कि सोमवार को तड़के पांच बजे लगभग 50 नक्सलियों ने पुलिस चौकी पर हमला किया जिसमें दो पुलिसवालों की मौत हो गई और सात घायल हो गए.

नयाग्राम में सीपीएम के पांच कार्यकर्ताओं को एक-एक कर घर से बाहर बुलाया गया और उनकी हत्या कर दी गई. कार्यकर्ताओं के शवों के पास से भी माओवादियों के लिखे कुछ पोस्टर बरामद किए गए.

बंद के मद्देनज़र ट्रेनों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है.