कश्मीर में कर्फ़्यू बढ़ा, उड़ानें रद्द

कश्मीर में सोमवार को हिंसक प्रदर्शन हुए हैं

भारत प्रशासित कश्मीर में हिंसा को देखते हुए कर्फ़्यू बढ़ा दिया गया है और इसे कड़ाई से लागू किया जा रहा है.

उल्लेखनीय है कि सोमवार को सरकार विरोधी प्रदर्शनों में 19 लोग मारे गए थे.

साथ ही कश्मीर हवाई अड्डे को बंद कर दिया है, 10 वर्ष में पहली बार कश्मीर घाटी को जाने वाली सभी उड़ानें रद्द कर दी गईं हैं.

पुलिस की कर्फ़्यू के दौरान देखते ही गोली मारने के आदेश के बावजूद बारामुला के ख़ानपुरा में प्रदर्शनकारियों ने सुरक्षाबलों पर पथराव किया.

उन्हें तितर बितर करने के लिए सुरक्षा बलों ने आसूं गैस के गोले छोड़े जिसमें एक व्यक्ति घायल हो गया.

पुलिस का कहना है कि प्रदर्शनकारियों ने सोमवार की रात को एक और स्कूल की इमारत में आग लगा दी.

उल्लेखनीय है कि सोमवार को दो अलग अलग कारणों से प्रदर्शन हिंसक हो उठे थे.

दरअसल कश्मीर के विभिन्न हिस्सों में 'आज़ादी'की मांग को लेकर प्रदर्शन जारी ही थे कि एक टेलीविज़न चैनल पर ख़बर प्रसारित हुई कि एक अमरीकी प्रांत में क़ुरान का अपमान किया गया है.

इसके बाद हिंसा भड़क उठी और सुरक्षा बलों की फ़ायरिंग में 19 लोगों की मौत हो गई.

सर्वदलीय बैठक

इसके बाद दिल्ली में केंद्रीय मंत्रिमंडल की सुरक्षा मामलों की समिति की एक बैठक हुई थी जिसमें तय किया गया कि 15 सितंबर को कश्मीर के मसले पर चर्चा के लिए एक सर्वदलीय बैठक बुलाई जाए.

प्रशासन ने मंगलवार को राजधानी श्रीनगर के अलावा बदगाम, चून, मीरगुंड, ओमपुरा, नरकारा, शेखपुरा, हुमहमा, आईजी रोड, गुलवानपुरा, नादिरगुंड, चादूरा, गांदरबल, कंगन, अनंतनाग, बिजबहेरा, कुलगाम, पुलवामा, सोपिया,पांपोर, लातपुरा, अवंतिपुरा, बारामूला, तंगमार्ग, सोपोर, कुपवाड़ा, त्रेगाम, हंदवाड़ा, चोटीपुरा, कुलगाम और बांदीपुरा में कर्फ़्यू लगाने की घोषणा की है.

पुलिस का कहना है कि नाराज़ प्रदर्शनकारियों ने सोमवार की रात पुलवामा में एक निजी स्कूल को आग के हवाले कर दिया. साथ ही थानदान में भीड़ ने एक पुलिस जवान के घर को आग लगा दी.

इसी तरह अनंतनाग में भीड़ ने एक धार्मिक स्थल की सुरक्षा में लगे जवानों के सामान को ले जाकर आग लगा दी.

इससे पहले सोमवार को नाराज़ भीड़ ने प्रोटेस्टेंट चर्च के टाइंडेल बिस्को स्कूल में आग लगा दी थी और कई सरकारी इमारतों और एक सरकारी गाड़ी को भी आग के हवाले कर दिया था.

संबंधित समाचार