नाव दुर्घटना में 20 के मरने की आशंका

नौका (फ़ाइल फ़ोटो)
Image caption आम तौर पर इन नदियों में तेज़ बहाव के कारण दुर्घटना होती है.

पश्चिम बंगाल की मुरीगंगा नदी में एक नाव दुर्घटना में 20 लोगों के मरने की आशंका है.

अभी तक सिर्फ़ आठ लोगों के शव निकाले गए हैं जबकि 15 अन्य लोग लापता हैं.

बचाव करने वालों का विचार है कि अशांत और तेज़ बहाव वाली नदी में उनके ज़िंदा बचने की संभावना बहुत कम है.

बुधवार की शाम को एक ट्रालर नौका सुंदर वन डेल्टा की मुरीगंगा नदी में डूब गई थी. ये नाव पश्चिम बंगाल के 24 परगना ज़िले के काकद्वीप पहुंचने वाली थी कि हादसे का शिकार हो गई.

इस में 80 यात्री सवार थे जिनमें से ज़्यादातर दिल्ली और उत्तर प्रदेश के रहने वाले थे.

उस ज़िले के पुलिस अधीक्षक एल.एम मीणा ने बीबीसी को बताया, "संभवतः ट्रॉलर का कोई हिस्सा किसी दरार में फंस गया और नाव तुरंत डूब गई."

उन्होंने कहा, "स्थानीय लोगों ने बचाव कार्य शुरू किया लेकिन उसमें तेज़ी उस वक़्त तक नहीं आ सकी जब तक कि राज्य के डिसास्टर मैनेजमेंट यानी आपदा प्रबंधन के लोगों को इसमें न शामिल किया गया."

उन्होंने कहा, "जितने मुसाफ़िरों को बचाया जा सका उन्हें काकद्वीप अस्पताल में इलाज के लिए पहुंचा दिया गया है."

ज़िला अधिकारी इस बचाव कार्य की देखभाल कर रहे हैं और अभी भी ज़िंदा बचने वाले इक्का-दुक्का व्यक्ति की तलाश जारी है जो तैर कर किनारे तक पहुंच गए हों.

आम तौर से सुंदर वन के डेल्टा में इस प्रकार की नौका दुर्घटना क्षमता से ज़्यादा लोगों के सवार होने, नौका के ख़राब रखरखाव और अस्थिर और तेज़ बहाव से होती है.

संबंधित समाचार