'पुलिसकर्मियों की रिहाई जल्द संभव'

  • 29 सितंबर 2010
रमन सिंह
Image caption हमनें स्वामी अग्निवेश और के रोसैय्या से भी इस के बारे में बात की है: रमन सिंह

छत्तीसगढ़ के मुख्य मंत्री रमन सिंह ने कहा है कि नक्सलियों ने जिन पुलिसकर्मियों को 19 सितंबर को बंदी बनाया था उन्हें जल्द ही रिहा करा लिया जाएगा.

नक्सलियों ने इन पुलिसकर्मियों की रिहाई के लिए शर्त रखी थी कि पुलिस की हिरासत में उनके कुछ सहयोगियों को रिहा किया जाए और नक्सलियों के ख़िलाफ़ सशस्त्र अभियान बंद कर बातचीत की शुरुआत करे.

दो दिन पहले दिए गए नक्सिलयों के 'अल्टीमेटम' की अवधि मंगलवार रात ख़त्म हो चुकी है.

'हर संभव प्रयास'

मुख्यमंत्री रमन सिंह का कहना था कि सरकार नक्सलियों की हिरासत में चार पुलिसकर्मियों की रिहाई के हर संभव प्रयास कर रही है.

उनका कहना था कि उन्होंने व्यक्तिगत तौर पर समाजसेवी स्वामी अगनिवेश से बात की है. स्वामी अगनिवेश केन्द्र सरकार और नकसलियों के बीच बातचीत में मध्यस्थ की भूमिका निभा रहे है.

राजधानी रायपुर में पत्रकारों से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री का कहना था कि इस सिलसिले में उन्होंने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री और अधिकारियों से भी बातचीत की है.

इस तरह की खबरें हैं कि अगवा करने के बाद नक्सली इन पुलिसवालों को आंध्र प्रदेश की ओर ले गए हैं.

माओवादियों ने छत्तीसगढ़ के बीजापुर जि़ल़े में दस दिनों पहले इन पुलिसवालों को अगवा किया था और धमकी दी थी कि यदि उनकी माँगें नहीं मानी जाती तो वे इन लोगों को जान से मार देंगे.

संबंधित समाचार