झारखंड में अभियान समाप्त हुआ

  • 28 सितंबर 2010
झारखंड

झारखंड के सारंडा के जंगलों में माओवादी छापामारों और अर्द्धसैनिक बलों के बीच चल रही मुठभेड़ अब समाप्त हो गई है. यह जानकारी केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल के महानिदेशक विक्रम श्रीवास्तव नें रांची में पत्रकारों को दी. राज्य के पश्चिमी सिंहभूम जिले के मनोहरपुर के इलाके में पिछले 72 घंटों से पुलिस और माओवादियों के बीच घमासान लड़ाई चलती रही जिस क्रम में अर्द्धसैनिक बल के तीन जवान मारे गए जबकि नौ जवानों के घायल होने की बात कही जा रही है.

पुलिस का दावा है कि मुठभेड़ में दर्जन भर से ज्यादा माओवादियों को भी मार दिया गया है.

झारखंड पुलिस के प्रवक्ता राज कुमार मलिक ने बीबीसी से बात करते हुए कहा, "मुठभेड़ के दौरान हमने माओवादियों के कई कैंपों को ध्वस्त किया है और भारी मात्र में असलहा भी बरामद किया है. पुलिस बलों को काफी सफलता मिली है और इस अभियान के पीछे हमारा जो मक़सद था वह पूरा हुआ है." मुठभेड़ इतनी घमासान थी कि इस दौरान माओवादी छापामारों ने लगभग 18 विस्फोट किए हैं जिसमें एक पंचायत भवन और एक छात्रावास के भवनों को क्षति पहुंची है. राज कुमार मलिक का कहना है कि ऐसी खबरें थीं कि माओवादियों के कई बड़े नेता झारखंड के मनोहरपुर के इलाके में बैठकें कर रहे हैं. इसी सूचना के आधार पर सुरक्षा बलों ने यह अभियान चलाया. वैसे मलिक का कहना है कि अभियान को फिलहाल तो रोका गया है मगर इसे फिर चलाया जाएगा.

संबंधित समाचार