पाकिस्तान पर बरसे कृष्णा

एसएम कृष्णा
Image caption कृष्णा ने कहा कि पाकिस्तान भारत को मानवाधिकारों और लोकतंत्र पर पाठ नहीं पढ़ा सकता.

संयुक्त राष्ट्र की आमसभा को संबोधित करते हुए भारतीय विदेशमंत्री एसएम कृष्णा ने कहा है कि पाकिस्तान भारत को मानवाधिकारों और लोकतंत्र पर पाठ न पढ़ाए.

मंगलवार को इसी आमसभा में अपने भाषण में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने कहा था कि कश्मीरियों के मानवाधिकारों का आदर किया जाना चाहिए और उनकी आवाज़ सुनी जानी चाहिए

आमसभा में अपने भाषण में कृष्णा ने कहा कि कश्मीर पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद का शिकार है. उन्होंने कहा कि पड़ोसी होने के कारण भारत और पाकिस्तान का यह दायित्व है कि वे मिलकर काम करें.

पड़ोसियों से संबंध

कृष्णा ने दक्षिण एशिया में शांति और स्थिरता के लिए अपने पड़ोसियों के साथ अच्छे संबंधों की ज़रूरत पर ज़ोर दिया.

उन्होंने कहा कि भारत पाकिस्तान के साथ अच्छे संबंध चाहता है, इसलिए जब वहाँ इस साल बाढ़ आई तो भारत ने संयुक्त राष्ट्र के माध्यम से पाकिस्तान के लिए लोगों के लिए ढाई करोड़ डॉलर की मदद की.

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को अपनी ज़मीन से हो रही भारत विरोधी आंतकी कार्रवाइयों पर रोक लगानी चाहिए. यह क्षेत्र के हित में होगा और यह पाकिस्तान के भी हित में होगा.

भारतीय विदेशमंत्री ने कहा कि पाकिस्तान को भी अपनी जम़ीन का इस्तेमाल भारत के ख़िलाफ़ न होने देने के वादे को पूरा करते हुए आतंकवाद पर रोक लगानी चाहिए.

पाकिस्तान के विदेशमंत्री शाह महमूद क़ुरैशी के मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र की आमसभा में दिए अपने भाषण में कश्मीर के हालात का ज़िक्र करते हुए कहा था कि कश्मीरियों के मानवाधिकार का आदर करते हुए उसकी रक्षा की जानी चाहिए.

इसका जवाब देते हुए भारतीय विदेश मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान 'हमें लोकतंत्र और मानवाधिकारों का पाठ न पढ़ाए'.

इससे पहले मंगलवार को पाकिस्तान के बयान पर भारत ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी और कहा था कि ''जम्मू कश्मीर के बारे में पाकिस्तान का यह बयान अस्वीकार्य है. पाकिस्तान में इस समय बहुत सी चुनौतियां हैं, ऐसे में इस प्रकार के बयान देकर पाकिस्तान उन चुनौतियों से ध्यान नहीं हटा सकता है.''

भारतीय विदेशमंत्री एसएम कृष्णा ने अपने भाषण में सुरक्षा परिषद के विस्तार का भी जिक्र किया और कहा कि संयुक्त राष्ट्र के अधिकांश देश चाहते हैं कि परिषद का विस्तार हो.

एमएम कृष्णा ने सुरक्षा परिषद के जल्द से जल्द विस्तार करने की वकालत की.

संबंधित समाचार