नाव दुर्घटना में 38 लोग मारे गए

  • 11 अक्तूबर 2010
Image caption नाव में सवार ज्यादातर लोग खेतिहर मज़दूर थे

बिहार के बक्सर ज़िले में रविवार शाम हुई नाव दुर्घटना में कम से कम 38 लोग मारे गए हैं. मृतकों में महिलाओं और बच्चों की संख्या अधिक बताई जा रही है.

दुर्घटना ज़िले के ब्रहमपुर थाना क्षेत्र के दल्लूपुर गांव के पास हुई.

स्थानीय लोगों के अनुसार इस नाव पर लगभग 70 खेतिहर मज़दूर सवार थे, जो पास के दियारा इलाके में दिनभर काम करने के बाद शाम को अपने घर वापस लौट रहे थे.

ब्रहमपुर थाने के दरोगा राजकुमार पासवान के अनुसार सोमवार सुबह नौ बजे तक 36 शव निकाले जा चुके हैं.

दरोगा का कहना है कि नाव पर सवार लोगों में से अब सिर्फ़ दो लोग लापता बताए जा रहे हैं, इसलिए मृतकों की तादाद 38 से ज़्यादा नहीं होगी.

घटनास्थल पर ही मौजूद बक्सर के पुलिस अधीक्षक उपेंद्र कुमार सिन्हा ने बीबीसी को बताया कि जहां नाव डूबी वहां जलकुंभियां बहुत ज़्यादा हैं इसलिए महाजाल नहीं डाला जा सकता.

उनके मुताबिक आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से भेजे गए बचाव दल के लोग चार मोटर बोट और स्थानीय गोताख़ोरों की मदद से दो लापता लोगों की तलाश में जुटे हैं.

नाव डूबते समय उस पर सवार लोगों में से जो बचकर बाहर निकल पाए उनका कहना है कि नाव में धीरे-धीरे पानी भरने लगा और डर के चलते चारों ओर अफ़रातफ़री मच गई. ऐसे में औरतों और बच्चों ने एक दूसरे को पकड़कर रोना शुरु कर दिया और इतने में नाव पूरी तरह पानी में समा गई.

अधिकारियों का मानना है कि नाव में क्षमता से अधिक लोग सवार थे. अधिकारियों ने नाव में ख़ामियां होने की संभावना भी जताई.

इन कारणों के चलते दुर्घटना की जांच ज़िलाधिकारी से कराने के आदेश दिए गए हैं.

मारे गए लोगों के निकट संबंधियों को मुआवज़े के तौर पर एक-एक लाख रुपए देने की घोषणा की गई है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार