हेडली की पत्नी ने किया था आगाह

हेडली
Image caption डेविड हेडली इस समय शिकागो स्थित जेल में बंद हैं

हेडली की पत्न ने अमरीकी ख़ुफ़िया एजेंसी एफ़बीआई को ये जानकारी दी थी कि एक अमरीकी व्यापारी, पाकिस्तान के एक चरमपंथी गुट के साथ प्रशिक्षण ले रहा है. इस गुट ने ही बाद में हमलों को अंजाम दिया.

यह जानकारी अमरीका में छपी एक तहकीकाती रिपोर्ट में दी गई है.

प्रोपब्लिका नामक संस्था की इस खोजी रिपोर्ट को वॉशिंगटन पोस्ट ने प्रकाशित किया है. प्रोपब्लिका लोक हित में काम करने वाली एक स्वतंत्र खोजी पत्रकारिता संस्था है.

रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान मूल के अमरीकी चरमपंथी डेविड हेडली की पत्नी ने तीन साल पहले हेडली और लश्कर-ए-तैय्यबा के बीच संबंधों की जानकारी एफबीआई को दी.

रिपोर्ट में बताया गया है, "मुंबई में पाकिस्तानी चरमपंथियों के हमले से तीन साल पहले न्यूयॉर्क सिटी स्थित एफ़बीआई के अधिकारियों को हेडली की पत्नी के ज़रिए यह खुफिया जानकारी मिली थी कि एक अमरीकी व्यापारी पाकिस्तान के उस गुट के साथ प्रशिक्षण प्रशिक्षण ले रहा है. जिसने बाद में हमलों को अंजाम दिया."

अमरीका भारत के साथ आतंकवाद के ख़िलाफ़ साझेदारी की बात करता रहा है और ये रिपोर्ट उस साझेदारी पर कई सवाल खड़े करती है. भारत की अक्सर ये शिकायत रही है कि भारत के ख़िलाफ़ काम करे लश्कर ए तैय्यबा जैसे संगठनों को अमरीका ने कुछ हद तक नज़रअंदाज़ किया है क्योंकि वो पाकिस्तान को नाराज़ नहीं करना चाहता था. मुंबई हमलों के बाद जिसमें कई विदेशी नागरिक भी मारे गए थे अमरीका के रूख़ में बदलाव आया है.

जानकारी

प्रोपब्लिका की रिपोर्ट के मुताबिक, "एफ़बीआई के साथ तीन बार हुई पूछताछ में हेडली की पत्नी ने बताया कि डेविड हेडली लश्कर-ए-तैय्यबा के सक्रिय चरमपंथी हैं और पाकिस्तान स्थित शिविरों में उन्होंने व्यापक प्रशिक्षण लिया है."

डेविड हेडली इस समय अमरीका में शिकागो स्थित जेल में बंद हैं. मुंबई हमलों में शामिल होने के आरोप में उनको पिछले साल ही एफ़बीआई ने गिरफ्तार किया था. उन्होंने मुंबई हमलों में शामिल होने की बात स्वीकार कर ली है.

ऐसा माना जाता है कि अमरीका की आतंकवाद निरोधक ईकाई ने 2008 में कई बार मुंबई में संभावित हमलों के बारे में चेतावनी दी थी. रिपोर्ट का कहना है कि इस चेतावनी में ताजमहल होटल पर ख़तरे सहित अन्य ब्यौरे भी शामिल थे.

प्रतिक्रिया

इस रिपोर्ट पर भारत में अमरीकी राजदूत टिमोथी रोमर ने कहा है कि डेविड हेडली से जुड़ी संभावित सूचना पर प्रकाशित रिपोर्टों की वे जांच कर रहे हैं.

उन्होंने कहा, "भारत के साथ आतंकवाद निरोधक सहयोग को हम काफ़ी गंभीरता से लेते हैं. ऐसे आतंकवादी मसलों पर हमारे ख़ुफिया अधिकारी मिलकर काम करते हैं."

उन्होंने कहा कि वाशिंगटन पोस्ट और मीडिया में आ रही बाक़ी ख़बरों पर पूरी जानकारी लेने के बाद ही वह कुछ कहने की स्थिति में होंगे.

संबंधित समाचार