'प्रधानमंत्री ने तथ्यों की अनदेखी की है'

  • 17 अक्तूबर 2010
नितीश कुमार
Image caption नितीश कुमार का कहना है कि बिहार को सहायता एनडीए के शासनकाल से मिल रही है

बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने प्रधानमंत्री के उस बयान पर कड़ा एतराज़ जताया है जिसमें उन्होंने कहा था कि बिहार को मिलने वाली आर्थिक मदद का सही इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है.

नितीश ने संवाददाताओं से बात करते हुए कहा, "मैं प्रधानमंत्री के इस बयान को सुनकर हैरान हूं. हम प्रधानमंत्री को पिछले पांच साल से बिहार आने के लिए आमंत्रित कर रहे हैं, लेकिन उन्होंने समय नहीं निकाला. प्रधानमंत्री ने तथ्यों और आंकड़ों की अनदेखी की है."

उन्होंने कहा, "प्रधानमंत्री को चाहिए कि वो बिहार नवनिर्माण विधेयक पर एक नज़र डालें. केंद्र से जो आर्थिक मदद आती है वो केंद्रीय एजेंसियों के पास जाती है. उनके सही ढंग से खर्च न होने के लिए वो ज़िम्मेदार हैं."

नीतिश कुमार ने कहा, "प्रधानमंत्री जी से कहना चाहूँगा कि बिहार को एक हज़ार करोड़ की राशि 2004 से नहीं बल्कि 2002 से मिल रही है जब केंद्र में एनडीए की सरकार थी."

फंड का ठीक से इस्तेमाल नहीं

ग़ौरतलब है कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने बिहार के अररिया ज़िले में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए शनिवार को कहा था कि बिहार में केंद्रीय सहायता का ठीक से इस्तेमाल नहीं हो रहा है.

उधर नितीश कुमार ने स्पष्ट किया है कि वे भाजपा नेताओं के साथ मिल कर चुनाव प्रचार करेंगे. इससे पहले ऐसी ख़बर आ रही थी कि नीतिश कुमार भाजपा के नेता लालकृष्ण आडवाणी के साथ मंच साझा नहीं करना चाहते.

इससे पहले नीतिश कुमार ने गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के बिहार में चुनाव प्रचार करने की ख़बर को लेकर अपनी नाख़ुशी ज़ाहिर की थी.

माना जाता है कि अल्पसंख्यक वोटों के मद्देनज़र नितीश भाजपा धड़े से दूरी बना कर रखना चाहते हैं.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार