क्या जंगल में मंगल से जानवर हुए परेशान?

रसेल ब्रांड और केटी पेरी
Image caption रसेल ब्रांड और केटी पेरी ने हिंदू रीति रिवाज से शादी की

राजस्थान में शेरो के अभ्यारण्य के निकट एक सितारा होटल में शादी के अपने खवाब को हिंदू रीति रिवाज से रूपांतरित कर ब्रिटिश हास्य अभिनेता रसेल ब्रैंड और सिने तारिका केटी पेरी तो लौट गए लेकिन उनके प्रवास पर एक कानूनी विवाद खड़ा हो गया है.

सवाई माधोपुर के एक स्थानीय नागरिक अक्षय शर्मा ने अदालत में इस्ताग्सा पेश कर कहा है कि इन दोनों और इनके सहयोगियो ने जंगल के कानून का उल्लंघन किया और शोर शराबा कर वन्य जीवो की शांति भंग की.

अदालत में अब ये मामला तीस अक्टूबर को सुनवाई के लिए आएगा.

परिवादी के मुताबिक, ये लोग बाघों की पनाहगाह रणथम्भोर के समीप एक होटल में ठहरे और इन्होंने और इनके मेहमानों ने कोलाहल कर जंगल के जीवन में ख़लल डाला.

ध्वनि प्रदूषण

परिवादी के अनुसार कुछ विदेशी मेहमानों ने ध्वनि प्रदूषण किया, आतिशबाजी जलाई और शोर किया. इस परिवाद में स्थानीय अधिकारियों का नाम भी शिकायत में कार्रवाई के लिए लिखा गया है.

इस शादी की 'आँखों देखि' अपने कैमरे में दर्ज करने के लिए बड़ी तादाद में दुनिया भर से फ़ोटोग्राफ़र सवाई माधोपुर पहुंचे थे और दुसरो की शादी में बेगाने अब्दुल्ले की भांति घंटो उस होटल के बाहर खड़े रहे जहाँ इस विवाह के विधि विधान संपन्न हुए.

हालत ये हुई कि फोटोग्राफरों और इस विदेशी युगल के सुरक्षा कर्मियो से कई बार झड़पें हुईं क्योंकि विवाह करने आए रसेल और केटी अपनी निजता फ़ोटोग्राफ़रों के साथ बांटने को तैयार नहीं हुए.

होटल के बाहर तमशबीनों और मीडिया का कोलाहल और अंदर मंगल गीत गूंजे और ये सितारे विवाह सूत्र में बंध गए.

फिर वो घड़ी आई जब वधू केटी को विदाई दी गई. आसमान से हेलीकाप्टर 'पवन रथ ' की मानिंद होटल के करीब ज़मीं पर उतरा और दूल्हा रसेल अपनी अर्धांगनी को लेकर 'दाम्पत्य की दुनिया में दाख़िल होने उड़न छू हो गए.

संबंधित समाचार