आज पहुँचेंगे ओबामा दिल्ली

उद्योग-व्यापार जगत के प्रतिनिधियों के साथ ओबामा

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा अपनी भारत यात्रा के दूसरे दिन रविवार को मुंबई से दिल्ली पहुँच रहे हैं.

शनिवार को उन्होंने मुंबई में कुछ कार्यक्रमों में हिस्सा लिया, जिसमें भारतीय व्यापार और उद्योग जगत के प्रतिनिधियों से मुलाक़ात प्रमुख था. उन्होंने अमरीकी और भारतीय कंपनियों के बीच 10 अरब डॉलर के समझौतों की घोषणा की है.

दिल्ली रवाना होने से पहले ओबामा रविवार को भी मुंबई के कुछ कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे.

मंगलवार को भारत से विदा होने से पहले वे हुँमायूँ का मक़बरा देखने जाएँगे, राजघाट में महात्मा गांधी की समाधि पर जाएँगे, संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित करेंगे और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मिलेंगे.

दिल्ली में उनकी सुरक्षा के व्यापक इंतज़ाम किए गए हैं.

राष्ट्रपति ओबामा का भारत दौरा दस दिनों की एशियाई देशों की यात्रा का पहला पड़ाव है.

सुरक्षा के इंतज़ाम

Image caption बिल क्लिंटन और जॉर्ज बुश भी मौर्या शेरटन होटल में ठहरे थे

रविवार को मुंबई में ओबामा होलीनेम स्कूल जाएँगे, सेंट ज़ेवियर्स कॉलेज में एक प्रदर्शनी देखने जाएँगे और फिर बाद में इसी कॉलेज के छात्रों से रुबरू होंगे.

वे दोपहर को दिल्ली पहुँचेंगे.

भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने अमरीकी अधिकारियों के साथ मिलकर दिल्ली में राष्ट्रपति ओबामा की सुरक्षा के व्यापक इंतज़ाम किए हैं.

अधिकारियों का कहना है कि सैकड़ों 'स्नाइपर्स'यानी सटीक निशाना लगाने वाले बंदूकधारी उनकी सुरक्षा पर नज़र रखेंगे.

बराक ओबामा अपनी पत्नी मिशेल ओबामा के साथ दिल्ली के मौर्या शेरटन होटल में ठहरेंगे. सुरक्षा एजेंसियों ने अमरीकी सुरक्षा दस्ते के साथ इस होटल को सुरक्षा घेरे में ले लिया है.

होटल के आसपास ही क़रीब दो हज़ार सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं. ये सुरक्षाकर्मी दिल्ली पुलिस, अर्धसैनिक बलों और एनएसजी के कमांडो हैं.

राष्ट्रपति ओबामा के अलावा मिशेल ओबामा के लिए भी व्यापक सुरक्षा इंतज़ाम किए गए हैं क्योंकि वे राष्ट्रपति से अलग कुछ कार्यक्रमों में शिरकत करेंगीं.

अरबों के सौदे

अपनी यात्रा के पहले दिन बराक ओबामा ने व्यापार और उद्योग जगत के प्रतिनिधियों के बीच दिए संबोधन में भारतीय और अमरीकी कंपनियों के बीच 10 अरब डालर मूल्य के बीस समझौतों की घोषणा की.

ओबामा ने प्रतिबंधित तकनीकों के निर्यात पर से भी पाबंदी हटाने की बात अपने भाषण के दौरान कही है.

इसके तहत इसरो और डीआरडीओ को परमाणु इंधन के दोहरे उपयोग की तकनीक हासिल करने की सुविधा मिल सकेगी. पहले इस पर प्रतिबंध लगा हुआ था.

कहा गया है कि इन समझौतों से अमरीका में 50 हज़ार से अधिक रोज़गार अवसरों का निर्माण होगा.

अपने भाषण के दौरान ओबामा ने कहा कि मुंबई से यात्रा शुरू करने के उनके फ़ैसले को लेकर कहा जा रहा था कि वे इसके ज़रिये दुनियाँ को एक संदेश देना चाहते हैं, फिर थोड़ा रूककर उन्होंने कहा, "ये बिल्कुल सही है."

उनसे अपेक्षा की जा रही थी कि वह पाकिस्तान के ख़िलाफ़ एक कड़ा बयान देंगे लेकिन उन्होंने पाकिस्तान के ख़िलाफ़ एक शब्द भी नहीं कहा जिससे कुछ लोगों को निराशा हुई है.

संबंधित समाचार