ओबामा की भारत यात्रा - लाइव

बीबीसी हिंदी की विशेष लाइव कमेंटरी. बीबीसी हिंदी की विशेष लाइव कमेंटरी.
यह अपने आप अपडेट होता रहेगा.

ताज़ा पेज देखें

सोमवार की रात दिल्ली के मौर्या होटल में बिताने के बाद अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और उनकी पत्नी मिशेल ओबामा मंगलवार सुबह दिल्ली से इंडोनेशिया के लिए रवाना हो गए.

दिल्ली में राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति ओबामा ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह,  राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल और अपनी पत्नी मिशेल ओबामा की मौजूदगी में संक्षिप्त भाषण दिया है.

ओबामा ने मनमोहन सिंह को अपना अच्छा दोस्त बताया और कहा -"मैं अच्छे दोस्त डॉक्टर सिंह से कह सकता हूँ कि आप इस देश को मानवीय तरीके से आगे ले जा रहे हैं.... मैं सभी से कहूँगा कि कोई भारत की यात्रा नहीं करता,  भारत को अनुभव करता है."

राष्ट्रपति ओबामा ने दोहराया कि  भारत ने वो कर दिखाया है जो कई लोग असंभव मानते थे.

भारत के राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और उनकी पत्नी के सम्मान में भोज दे रही हैं.

पाकिस्तान ने आधिकारिक तौर पर भारत की सुरक्षा परिषद की स्थायी सदस्यता  को  अमरीका के समर्थन की आलोचना की है. पाकिस्तान कहता है कि ये  'संयुक्त राष्ट्र की सुधार प्रक्रिया को और जटिल बनाता है.  ऐसा सुधार जो संयुक्त राष्ट्र चार्टर के मूल सिंद्धांतों और संप्रभुता में बराबरी के सिद्धांत का उल्लंघन करता हो....सामूहिक सुरक्षा का उल्लंघन करता हो उससे अंतरराष्ट्रीय संबंधो को आघात पहुँचेगा.'

पाकिस्तान का कहना है कि भारत की उम्मीदें जो भी हों, ऐसे कई कारण हैं जिनसे संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद सुधारों का ये रास्ता विश्वास योग्य नहीं रहता - इनमें 'भारत की पड़ोसियों के साथ कारगुज़ारी और जम्मू-कश्मीर पर सुरक्षा परिषद प्रस्तावों का उल्लंघन' शामिल है.  पाकिस्तान ने ये भी कहा है कि उसे उम्मीद है 'अमरीका इन विचारों को नैतिक नज़रिए से देखेगा,  पावर पॉलिटिक्स के तंग नज़रिए से नहीं.'

बीबीसी हिंदी सेवा के प्रमुख अमित बरुआ के अनुसार भारत की स्थायी सदस्यता के लिए अमरीकी समर्थन दिखाता है कि भारत-अमरीका के बीच शीत युद्ध समाप्त हो गया है और अमरीका में भारत की भूमिका के लिए एक नई समझ पनप रही है.

अमित बरुआ के अनुसार ये दिखाता है कि अमरीका विश्व स्तर पर भारत के उदय का समर्थन करेगा और भारत के पड़ोसियों के लिए संदेश ये है कि भारत-अमरीका साझेदारी लंबी चलने वाली है.

उधर पाकिस्तान से टीकाकार अनीस जिलानी ने बीबीसी को बताया है कि सुरक्षा परिषद की स्थायी सदस्यता पर भारत को मिले समर्थन से पाकिस्तान में ख़ासी नाराज़गी होगी  और भारत के लिए ये राह इतनी आसान नहीं होगी.... 

कुछ ही पल पहले  भारतीय संसद में अमरीकी राष्ट्रपति ओबामा ने कहा कि अमरीका चाहता है कि 'भारत संयुक्त राष्ट्र में बड़ी भूमिका निभाए और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य बने.'  लेकिन उन्होंने ये भी कहा कि भारत को 'विश्व स्तर के नेताओं की ज़िम्मेदारियाँ भी निभानी होंगी...आज़ादी के लिए खड़ा होना होगा....जैसे कि बर्मा में....आज़ादी के लिए आवाज़ उठाना किसी के मामलों में दख़ल नहीं है.'

राष्ट्रपति  ओबामा अपने भाषण के बाद सांसदों को नमस्कार करते और मुस्कुराते हुए सांसदों से हाथ मिला रहे हैं, कई सांसदों ने ओबामा को घेर लिया है, वे सभी से हाथ मिला रहे हैं.  इसके बाद ओबामा मनमोहन सिंह के साथ संसद भवन के केंद्रीय कक्ष से बाहर चले गए.

लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार ने कहा भारत की संसद में आने से दोनों देशों का रिश्ता और प्रगाढ़ हो जाएगा.  उन्होंने कहा कि भारतीय सांसदों की ओर से अमरीकियों,  आपकी पत्नी को शुभकामनाएँ.

लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार भाषण दे रही है और काफ़ी भावुक दिखते अमरीकी राष्ट्रपति सांसदों के साथ संसद के केंद्रीय कक्ष में मौजूद हैं.

मीरा कुमार ने कहा कि संसद केवल क़ानून नहीं बनाती बल्कि सामाजिक बदलाव का भी प्रतिबिंब है.

भारतीय संसद में ओबामा मौजूद हैं और अपने भाषण के बाद मीरा कुमार का धन्यवाद संदेश सुन रहे हैं.

मीरा कुमार ने कहा कि राष्ट्रपति जी आपने दुनिया पर अपने विचार हमारे साथ बाँटे जिसके लिए हम आभारी हैं....आपका यहाँ आना दो महान देशों का मिलन है....

राष्ट्रपति  ओबामा:    ये है कहानी भारत की.... दोनों देशों के इतिहास जिन्होंने हमें अलग भी रखा है लेकिन हम ये जान लें कि हम साथ-साथ क्या कुछ कर सकते हैं ....तभी हम ऐसी दुनिया में  रहेंगे....जिसमें न्याय हो......धन्यवाद....जय हिंद !

राष्ट्रपति  ओबामा:   यदि चाहें तो हर कोई मेहनत से काफ़ी कुछ  कर सकता है.....डॉक्टर अंबेडकर जैसा दलित ये कर सकता है और संविधान लिख सकता है....

राष्ट्रपति  ओबामा:  आपने दशकों में वो कर दिखाया है जो लोग सदियों में करते हैं....हर भारतीय ये जान ले हम केवल आपकी सराहना नहीं करेंगे बल्कि आपका हर पल साथ देंगे.

राष्ट्रपति  ओबामा:   ये राष्ट्रपतियों के बीच, मंत्रियों के बीच की साझेदारी नहीं हो सकती, ये लोगों के बीच होनी चाहिए.

राष्ट्रपति  ओबामा:   भारत जब वैश्विक शक्ति के रूप में सामने आता है तो आज़ादी अहम है......महात्मा गांधी का उदाहरण देखिए...आपने लोकतंत्र का समर्थन किया है दुनिया भर में....हर देश अपना रास्ता खोजेगा...कोई एक ही रास्ता नहीं..लेकिन जब शांतिपूर्ण लोकतांत्रिक संघर्ष होता है जैसे बर्मा में हुआ....तो ये स्वीकार्य नहीं है....चुनाव में पूरी धांधली...जैसे बर्मा में हुआ...साफ़ तौर पर भारत ने कभी-कभी ऐसा नहीं किया है कि जो अपने लिए नहीं बोल सकते उनके लिए आवाज़ बुलंद की जाए.

राष्ट्रपति  ओबामा:   एक और उदाहरण भारत-अमरीका सहयोग का  ये होगा कि हम दिखाएँगे कि लोकतंत्र आम आदमी के लिए काम करता है.

राष्ट्रपति  ओबामा:   हमने प्रशासन को अमरीका में पारदर्शी बनाया है...आपने सूचना का अधिकार क़ानून बनाकर ऐसा काम करने का काम किया है.

राष्ट्रपति  ओबामा:   हम स्पष्ट कर सकते हैं कि परमाणु ऊर्जा का हक़ तो है लेकिन ईरान समेत सभा देश परमाणु हथियारों को ख़त्म करने की ओर भी क़दम उठाएँ.

राष्ट्रपति  ओबामा:   संयुक्त राष्ट्र के मकसद सभी देशों के मकसद हैं. हम चाहते हैं वे सभी देश जो संयुक्त राष्ट्र में भूमिका निभाना चाहते है वे अपनी ज़िम्मेदारियाँ भी निभाएँ....परमाणु अप्रसार के क्षेत्र में भी....

राष्ट्रपति  ओबामा:  हम चाहते हैं कि भारत  केवल पूर्व में न देखे बल्कि वहाँ पूरी तरह सक्रिय हो. अमरीका चाहता है कि संयुक्त राष्ट्र में सुधार होने चाहिए और भारत को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य होना चाहिए.

राष्ट्रपति  ओबामा:  पाकिस्तान को स्पष्ट किया गया है कि मुंबई के हमलावरों को सज़ा मिलनी चाहिए और पाकिस्तान को अपने यहाँ आतंकवादियों का सफ़ाया करना होगा....

राष्ट्रपति  ओबामा:  अगले साल अमरीकी सेना अफ़ग़ानिस्तान से बाहर जाएगी लेकिन हम लोगों को निराश्रय नहीं छोड़ेंगें. इसलिए पाकिस्तान से बात हुई और वे समझते हैं कि ये उग्रवादी पाकिस्तान के लिए भी ख़तरा हैं.

राष्ट्रपति  ओबामा:   स्वास्थ्य, शिक्षा के क्षेत्र में दोनों देशों के बीच और सहयोग होगा.. लेकिन सुरक्षा पर....मुंबई हमले इसलिए हुए क्योंकि भारत लोकतंत्र है...आतंकवादी हमलों को रोकने के लिए.. हम डर में नहीं जीएँगे... हम अपने लोगों की सुरक्षा पूरी तरह सुनिश्चित करेंगे...अल क़ायदा का सफ़ाया करने के लिए हम अफ़ग़ानिस्तान में इतनी देर रहे.

राष्ट्रपति  ओबामा:   अमरीका कृषि के क्षेत्र में नेतृत्व कर रहा है. भारत में हम मैसम के बारे में जानकारी में मदद कर रहे हैं...और इसको आगे बढ़ाएँगे... हम भारतीय निपुणता को अफ़्रीका के देशों में फैलाएँगे और भारत कृषि आदर्श के रूप में उभरेगी.

राष्ट्रपति  ओबामा:  हम सुरक्षा,  अंतरिक्ष के क्षेत्रों में भारत का सहयोग चाहते हैं... हम संयुक्त तौर पर शोध कर सकते हैं....अमरीका खुली अर्थव्यवस्था का पक्षधर रहेगा....हम जी-20 के ज़रिए दोहा चरण में प्रयास कर सकते हैं ताकि ग्लोबल ट्रेड सभी को फ़ायदेमंद हो.

राष्ट्रपति  ओबामा:  एक साथ चलकर भारत और अमरीका ने जी-20 बनाया. भारत की आवाज विश्व स्तर पर और बुलंदी से सुनी जा रही है. हम चाहते हैं कि वह सुरक्षा परिषद में हो और उसका स्वागत करेंगे.

राष्ट्रपति  ओबामा:   हमारे दोनों देश न्याय, बराबरी और जनतंत्र के बारे में प्रतिबद्ध हैं....(बार-बार तालियाँ)

राष्ट्रपति  ओबामा:    हमारी साझेदारी से पूर्ण तौर पर वैश्विक सहयोग किस तरह हो सकता है...सही है केवल भारतीय तय करेंगे उनका हित क्या है लेकिन मैं यही कहूँगा कि भारत और अमरीका के हित एक हैं. सुरक्षा, प्रगति,  वैश्विक मूल्यों के लिए सम्मान....मै अमरीका की ओर से इन सभी मुद्दों पर सहयोग के लिए प्रतिबद्ध हूँ. 

राष्ट्रपति  ओबामा: भारत की गुटनिरपेक्षता की नीति जिसमें शीत युद्ध में अमरीका अलग जगह था, वो दिन जा चुके हैं.

राष्ट्रपति  ओबामा: भारत की स्वतंत्र न्यायपालिका, क़ानून का राज -- भारत इसलिए कामयाब है क्योंकि यह लोकतंत्र है.

राष्ट्रपति  ओबामा:  विवेकानंद ने कहा आध्यात्मिक ज्ञान किसी की बपौती नहीं, ये सभी धर्मों में पाया  जाता है.

राष्ट्रपति  ओबामा:  जब भारत आज़ाद हुआ  तो अनेक ने कहा कि बहुत ग़रीब देश है असफल रहेगा, आपने हरित क्रांति कर भूख मिटाई, आपने सुपर कंप्यूटर बनाए, आप ग्लोबर अर्थव्यवस्था के इंजन बने हैं. आपने दिखाया है कि भारत का फ़लसफ़ा सभी को साथ लेकर चलता है.

राष्ट्रपति  ओबामा:   महात्मा गांधी के फ़लसफ़े को मार्टिन लूथर किंग ने नैतिक लड़ाई और तार्किक लड़ाई कहा. राजघाट पर मैने बहुत विनम्रता से सर झुकाया. गांधी के संदेश के बिना हो सकता है मैं अमरीका का राष्ट्रपति न बनता.

राष्ट्रपति  ओबामा: भारत में शून्य का एजाद हुआ,  भारतीय बहुत ही सूझवान हैं.  वेयर मैन इस विदाऊट फ़िर एंड हेड इस हेल्ड हाई (गुरुदेव टैगोर)

राष्ट्रपति  ओबामा: भारत उभर नहीं रहा, भारत उभर चुका है. ये भारत-अमरीका साझेदारी 21वीं सदी की सबसे अहम साझेदारी होगी.

राष्ट्रपति  ओबामा:   पिछले तीन दिन में हर जगह हमारा स्वागत हुआ है.   बहुत धन्यवाद !

राष्ट्रपति  ओबामा: लोकसभा, राज्यसभा के सदस्यों और भारतवासियो में शुभ कामनाएँ लाता हूँ जिनमें 30 लाक भारतीय शामिल हैं.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने संबोधन शुरु किया.

अंसारी ने कहा कि ओबामा की यात्रा से दोनों देशों के लोग पास आएँगे.

अंसारी ने कहा दोनों भारत और अमरीका दोनों पृथ्वी पर दूर हैं लेकिन चुनौतियाँ एक जैसी हैं जिनका सामना कर रहे हैं.

उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने कहा भारत बिना पक्षपात के परमाणु निरस्त्रीकरण के पक्ष में रहा है.

भारत के उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने लोकसभा और राज्यसभा के सांसदों को संबोधित करना शुरु किया और ओबामा का स्वागत किया. 

काफ़ी लंबा संदेश लिखा अमरीकी राष्ट्रपति ने और फिर किए अपने हस्ताक्षर

अमरीकी राष्ट्रपति ने बाएँ हाथ से गोल्डन बुक पर अपना संदेश लिख  रहे हैं. अमरीका के ध्वज के रंग इस पन्ने पर नज़र आ रहा है.

राष्ट्रपति  ओबामा ने राहुल गांधी और अनेक अन्य सांसदों को नमस्कार किया.

लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार और केंद्रीय संसदीय मामलों के मंत्री पवन बंसल भी ओबामा और मनमोहन के साथ हैं.

राष्ट्रपति  ओबामा को पारंपरिक तरीके से केंद्रीय कक्ष की ओर ले जाया जा रहा है. बीच-बीच में वे मनमोहन सिंह से बात कर रहे हैं.

राष्ट्रपति  ओबामा संसद भवन के केंद्रीय कक्ष की ओर रवाना हुए.

अमरीकी राष्ट्रपति  बराक ओबामा संसद भवन पहुँचे,  लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार और मनमोहन सिंह ने उनका स्वागत किया.

दिल्ली में संसद भवन में सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी और सहयोगियों के मंत्रियों-सदस्यों के साथ-साथ अनेक विपक्षी नेता भी मौजूद हैं.

राष्ट्रपति  ओबामा भारतीय संसद को कुछ ही क्षणों में संबोधित करने वाले हैं.

भारतीय संसद में और उसके आसपास कड़ी सुरक्षा का इंतज़ाम किया गया है और अनेक सुरक्षाकर्मी तैनात हैं.

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार संसद भवन के द्वार पर मौजूद हैं.

भारतीय संसद में कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री देवे गौडा, अनेक केंद्रीय मंत्री अपनी जगह ले चुके हैं.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा भारतीय संसद में पहुँचने वाले हैं और वे सांसदों को संबोधित करेंगे.

दिल्ली में भारतीय संसद में विभिन्न दलों के सांसद एकत्र होना शुरु हो गए हैं. 

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने भारतीय टीवी चैनल सीएनएन आईबीएन को बताया कि पाकिस्तान भारत के लिए समग्र वार्ता चाहता है ताकि रिश्तों को सामान्य किया जाए और साझा तौर पर 'आतंकवाद' का सामना किया जाए.

कुछ ही देर में  यानी भारतीय समयानुसार 1725  पर राष्ट्रपति ओबामा संसद भवन में भारतीय सांसदों को संबोधित करेंगे.

राष्ट्रपति बराक ओबामा दोपहर में उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और भाजपा नेता सुषमा स्वराज से मिल रहे हैं.

बीबीसी हिंदी सेवा प्रमुख अमित बरुआ के अनुसार भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की पाकिस्तान पर की गई टिप्पणी दिखाती है कि वे अपनी बात ज़ोरदार तरीके से रख सकते हैं.

अमरीकी नौकरियों के बारे में मनमोहन सिंह के बयान पर अमित बरुआ का मानना है कि  उन्होंने अपना एक नया अंदाज़ दिखाया है - कि भारत के हितों की रक्षा में बोलने में उन्हें अमरीकी राष्ट्रपति की मौजूदगी में भी कोई हिचकिचाहट नहीं है.

अमित बरुआ के मुताबिक अफ़्रीका और अफ़ग़ानिस्तान में भारत-अमरीका संयुक्त परियोजनाएँ दिखाती हैं कि ये साझेदारी एशिया तक सीमित नहीं है. अफ़ग़ान मामले पर भारत के सहयोग पर पाकिस्तान को कुछ चिंता हो सकती है.

राष्ट्रपति  ओबामा और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की  पत्रकारवार्ता की मुख्य बातें.

ओबामा- संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद पर भारत के दावे के संबंध में संसद में मेरे भाषण का इंतज़ार कीजिए.

ओबामा- कश्मीर विवाद में हमारी कोई  भूमिका नहीं है लेकिन अगर दोनों पक्ष  चाहें तो  हम मदद कर सकते हैं.

ओबामा- दस सी-17 विमानों का समझौता हुआ है,  इससे 22 हज़ार नौकरियों के अवसर पैदा होंगे. 

मनमोहन सिंह- हमें कश्मीर शब्द से कोई परहेज़ नहीं है, हम सभी मुद्दों पर बातचीत के लिए तैयार हैं और तनाव घटाना चाहते हैं.

मनमोहन सिंह- लेकिन पाकिस्तान अगर आतंकवाद  का  दबाव बनाएगा और दूसरी ओर बातचीत करेगा तो ये संभव नहीं है. बातचीत और आतंकवाद एक साथ नहीं चल सकते हैं.

मनमोहन सिंह-  स्थिर पाकिस्तान न केवल भारत बल्कि दुनिया के हित में है. 

मनमोहन सिंह- भारत अमरीकी लोगों को नौकरियाँ  नहीं छीन रहा है.  भारत के साथ समझौतों  से अमरीकी कार्यक्षमता बढ़ेगी.

-----------------------------------------------

दोनों नेता पत्रकारवार्ता स्थल से रवाना हो गए हैं.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की पत्रकारवार्ता समाप्त हो गई है.

मनमोहन सिंह- भारतीय अमरीकी कारोबार की क्षमता बढ़ा रहे हैं.

मनमोहन सिंह- भारत अमरीकी लोगों को नौकरियाँ छीनने के धंधे में नहीं है.

ओबामा- इन समझौतों से अमरीका और भारत दोनों में नौकरियों के अवसर बढ़ेंगे.

ओबामा- इससे भारत में भी नौकरियों के अवसर बढ़ेंगे.

ओबामा- समझौतों से अमरीका में लोगों को नौकरियों मिलेंगे, ये सही है.  लेकिन तकनीक की मदद से भारत के कारोबारी भी लाभांवित होंगे. 

सवाल- आउट सोर्सिग पर क्या कहना है,  समझौतों से अमरीका को फ़ायदा होगा लेकिन भारत को क्या मिलेगा.

मनमोहन सिंह- मज़बूत अमरीका व्यवस्था दुनिया के हित में है.

ओबामा- हम कुछ देशों के साथ व्यापार घाटे को जारी नहीं रख सकते. 

सवाल- चीन की मुद्रा को लेकर चल रहे विवाद पर क्या कहना है.

मनमोहन सिंह- हमें अमरीका के निवेश की ज़रूरत है.

मनमोहन सिंह- भारत  9-10 फ़ीसदी की विकास दर चाहता है,  इसमें अमरीका की मदद ज़रूरी है.

ओबामा- हम लगातार कहते आए हैं कि भारत-अमरीका के रिश्ते क्यों अहम है और इससे दुनिया को लाभ होगा.

ओबामा- भारत की दुनिया में प्रमुख भूमिका है.

ओबामा- भारत-अमरीका के साथ विभिन्न क्षेत्रों में रिश्ते बढ़ रहे हैं.

सवाल- भारत के साथ भविष्य में कैसे संबंध देखते हैं?

मनमोहन सिंह- हम पाकिस्तान के साथ सभी मुद्दों पर बात करने को तैयार है.

मनमोहन सिंह- बातचीत और आतंकवाद एक साथ नहीं चल सकते हैं.

मनमोहन सिंह- स्थिर पाकिस्तान न केवल भारत बल्कि दुनिया के हित में है.

ओबामा- मनमोहन सिंह ने स्पष्ट किया है कि वो  पाकिस्तान के साथ तनाव घटाना चाहते हैं.

ओबामा- हमारी कोई भूमिका नहीं है, लेकिन यदि दोनों पक्ष चाहेंगे तो हम भूमिका निभा सकते हैं.

ओबामा- मैंने कल ही कहा कि दोनों देशों के बीच तनाव कम होना चाहिए.

सवाल- क्या पाकिस्तान को आतंकवादी देश घोषित करना चाहिए. 

ओबामा- मुझे उम्मीद है कि भारत का प्रभाव बढ़ेगा और हमारा सहयोग भी.

ओबामा- अमरीका के भारत से संबंध गहरे हुए है.

ओबामा- हमने इस क्षेत्र और अंतरराष्ट्रीय क्षेत्र में भारत की भूमिका पर बातचीत की.

ओबामा- अफ़ग़ानिस्तान पर सहयोग के लिए हम धन्यवाद देना चाहते हैं.

ओबामा- हम सुरक्षा पर सहयोग बढ़ाने पर सहमत हुए हैं.

ओबामा- हम स्वच्छ ऊर्जा का केंद्र दिल्ली में स्थापित करना चाहते हैं.

ओबामा- रक्षा और अंतरिक्ष के क्षेत्र में और सहयोग बढ़ाना चाहते हैं.

ओबामा- हम चाहते हैं कि और क्षेत्रों में संबंध मज़बूत हैं.

ओबामा- भारत और अमरीका के संबंध 21वीं सदी के अहम रिश्ते हैं.

ओबामा- मैं और मेरी पत्नी भारत आकर बेहद प्रसन्न हैं.

मनमोहन सिंह ने कहा कि भारत और अमरीका के बीच सहयोग की अपार संभावनाएँ हैं.

मनमोहन सिंह ने कहा कि ओबामा हमारे अच्छे मित्र हैं.

मनमोहन सिंह ने कहा कि मुंबई हमले के बाद हम आतंकवाद के विरुद्ध सहयोग बढ़ाना चाहते हैं.

प्रधानमंत्री   ने कहा कि परमाणु ऊर्जा के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाना चाहते हैं.

मनमोहन सिंह   ने कहा कि अमरीका भारत का सबसे बड़ा व्यापारिक सहयोगी.

भारतीय प्रधानमंत्री ने कहा कि हम ऊर्जा, स्वास्थ्य और अंतरिक्ष में सहयोग बढ़ाना चाहते हैं.

मनमोहन सिंह   ने कहा कि हम इस दोस्ती को और आगे बढ़ाना चाहते हैं.

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि ओबामा और उनकी पत्नी दोनों ने भारतीयों का दिल जीता.

मनमोहन सिंह   ने ओबामा को निजी मित्र बताया.

मनमोहन सिंह ने बराक ओबामा की स्वागत किया.

राष्ट्रपति   ओबामा और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की पत्रकारवार्ता की शुरू.

बराक ओबामा   और मनमोहन सिंह की संयुक्त पत्रकारवार्ता शुरू होने का इंतज़ार.

बराक ओबामा    और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की हैदराबाद हाउस में अब भी बातचीत जारी है.

ख़बरें   हैं कि संयुक्त घोषणापत्र देर शाम जारी किया जाएगा.

ओबामा   और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के संयुक्त पत्रकारवार्ता को संबोधित करने की तैयारी.

राष्ट्रपति   ओबामा और प्रधानमंत्री संयुक्त रूप से पत्रकारों को संबोधित करेंगे.

दोनों  नेताओं की बातचीत के बाद प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत होगी.

राष्ट्रपति  ओबामा और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के बीच हैदराबाद हाउस में द्विपक्षीय वार्ता चल रही है.

अमरीकी   राष्ट्रपति बराक ओबामा और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के बीच बातचीत शुरु.

बराक   ओबामा द्विपक्षीय वार्ता के लिए हैदराबाद हाउस पहुँचे.

प्रधानमंत्री   मनमोहन सिंह राष्ट्रपति बराक ओबामा की हैदराबाद हाउस में प्रतीक्षा कर रहे हैं.

ओबामा    की अब हैदराबाद हाउस में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से द्विपक्षीय वार्ता होगी.

ओबामा   ने राजघाट पर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की. 

राष्ट्रपति ओबामा   औपचारिक स्वागत के बाद महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देने के राजघाट रवाना.

अमरीकी राष्ट्रपति  ने कहा कि भारत  विश्व शक्ति  बनने नहीं जा रहा बल्कि बन गया है.

ओबामा ने   कहा कि आर्थिक और द्विपक्षीय मुद्दों पर बातचीत होगी.

बराक ओबामा   का कहना था कि आतंकवाद से निपटने पर बात होगी ताकि दोनों देश सुरक्षित रह सकें.

बराक ओबामा   ने कहा कि लोगों के बीच ओर संबंध बढ़ाएंगे.

ओबामा   ने कहा कि वो और मिशेल भारत में हुए स्वागत से अभिभूत हैं.

बराक   ओबामा ने कहा कि वो इसके लिए भारत की जनता का आभार प्रकट करना चाहते हैं.

अमरीकी   राष्ट्रपति ने कहा कि वो प्रधानमंत्री सिंह से बातचीत को लेकर उत्साहित हैं.

ओबामा   ने कहा कि हम व्यापार, निवेश और आतंकवाद के ख़िलाफ़ ल़डाई सहित कई मसलों पर बातचीत करेंगे.

अमरीकी राष्ट्रपति   ने मीडिया से बातचीत मे कहा कि भारत और अमरीका की दोस्ती अहम है.

ओबामा    राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल को अमरीकी अधिकारियों से मिलवा रहे हैं.

बराक ओबामा    विभिन्न मंत्रियों और सेना के अधिकारियों से मिल रहे हैं.

ओबामा   ने  भारतीय सेना के तीनों अंगों का निरीक्षण किया.

अमरीकी   राष्ट्रपति  ओबामा  सलामी गारद का निरीक्षण कर रहे हैं.

ओबामा   गार्ड ऑफ़ आनर के लिए तैयार.

दोनों   देशों की राष्ट्रधुन बजाई जा रही हैं.

अमरीकी   राष्ट्रपति ओबामा को राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत किया जा रहा है.

ओबामा   गार्ड ऑफ़ ऑनर के लिए तैयार.

ओबामा   और मिशेल ओबामा प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मिले.

ओबामा   का  भारत की राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने स्वागत किया.

अमरीकी राष्ट्रपति ओबामा राष्ट्रपति भवन पहुँचे.

राष्ट्रपति ओबामा   का अब से थोड़ी ही देर में राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत किया जाएगा.

राष्ट्रपति   प्रतिभा पाटिल भी समारोह स्थल पर पहुँच गईं हैं.

ओबामा   के स्वागत के लिए प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह राष्ट्रपति भवन पहुँचे.

ओबामा और मिशेल ओबामा   राजघाट जाकर महात्मा गांधी की समाधि पर श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे.

बराक ओबामा  और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के बीच हैदराबाद हाउस में द्विपक्षीय वार्ता होगी.

ओबामा  शाम को संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित करेंगे.

बराक ओबामा की यात्रा का तीसरा दिन

-------------------------------------------

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के निवास स्थान पर बराक और मिशेल ओबामा ने रात्रिभोजन किया है. कई केंद्रीय मंत्री और जानी मानी हस्तियां इस मौक़े पर मौजूद थीं.

विश्लेषक वीआर राघवन का आकलन है कि ओबामा शायद ये चाहते हैं कि भारत को उभरी हुई शक्ति मानने और अन्य तरीकों से सराहने की एवज में भारत पाकिस्तान की मुश्किलें समझे और उस विषय में अमरीका पर ज़्यादा दबाव न डाले.

बीबीसी के रेडियो कार्यक्रम के दौरान वीआर राघवन ने कहा है कि भारत की अफ़ग़ानिस्तान में भूमिका को ओबामा ने आज तो सराहा है लेकिन कल संसद में पता  चलेगा कि क्या ओबामा को भारत से अफ़ग़ानिस्तान में और कर पाने की उम्मीद है?  

विश्लेषक वीआर राघवन का कहना है कि भारत के पड़ोसी चीन को ये समझाना मुश्किल और ज़रूरी होगा कि भारत-अमरीका का जो रिश्ता बन रहा है वह चीन के ख़िलाफ़ नहीं है.

विश्लेषक और सेवानिवृत्त लेफ़्टिनेन्ट जनरल वीआर राघवन का आकलन है कि पिछले दो दिनों की ओबामा यात्रा में चिंताजनक बात ये है कि ये  बात  सामने नहीं आ रही कि बड़ी संख्या में भारतीय भूखे सोते हैं और ग़रीबी रेखे के नीचे गुज़र-बसर करते हैं.

इस समय जारी बीबीसी हिंदी के रेडियों कार्यक्रम के दौरान विश्लेषक और सेवानिवृत्त लेफ़्टिनेन्ट जनरल वीआर राघवन बीबीसी स्टूडियो में हैं.

बराक ओबामा और उनकी पत्नी मिशेल   दिल्ली में प्रधानमंत्री मनमोहन के निवास स्थान पर रात्रिभोज के लिए पहुँच गए हैं.

बराक ओबामा और उनकी पत्नी मिशेल दिल्ली के मौर्या होटल पहुँच गए हैं और रात में वे भोज पर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के अतिथि होंगे.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और उनकी पत्नी मिशेल मुग़ल बादशाह हुमायूँ के मकबरे का दौरा करने के बाद मौर्या होटल के लिए रवाना हुए हैं.

ओबामा और उनकी पत्नी मिशेल  हुमायूँ के मकबरे में कुछ बच्चों से मिले, उनसें बाते की और उनके साथ तस्वीरें भी खिंचावाईं.

रविवार सुबह राष्ट्रपति ओबामा ने कहा कि पाकिस्तान में राजनीतिक स्थिरता और लोकतांत्रिक मूल्यों की स्थापना सबसे ज़्यादा भारत के हित में है.

बीबीसी हिंदी सेवा प्रमुख अमित बरुआ का मानना है कि ओबामा ने पाकिस्तान पर संतुलित और उचित विचार रखे हैं. 

अमित बरुआ का कहना है उन्होंने एक तरह से प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के विचारों का अनुमोदन किया है जिसमें उन्होंने कहा था कि भारत को पाकिस्तान के साथ मिलकर काम करना है.

दिल्ली में कड़ी सुरक्षा के बीच राष्ट्रपति ओबामा का काफ़िला मुग़ल बादशाह हुमायूँ के मकबरे पर पहुँच गया है.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और उनकी पत्नी मिशेल दिल्ली में रूज़वेल्ट हाउस में विश्राम के बाद हुमायूँ के मकबरे की ओर रवाना.

राष्ट्रपति बराक ओबामा और उनकी पत्नी मिशेल कार में बैठकर अमरीकी दूतावास की ओर रवाना हुए.

ओबामा केंद्रीय मंत्री ख़ुर्शीद, निरुपमा राव,  रक्षा अधिकारियों से मिले हैं. ख़ुश नज़र आते ओबामा और मिशेल ने मौजूद लोगों की ओर हाथ हिलाया.

ओबामा और उनकी पत्नी मिशेल हवाई अड्डे पर उतरे और प्रधामंत्री मनमोहन सिंह से हाथ  मिलाया और गले मिले.

हवाई अड्डे पर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, उनकी पत्नी गुरशरण कौर भी पहुँच गए हैं.

इंदिरा गांधी हवाई अड्डे पर उनके स्वागत के लिए केंद्रीय मंत्री सलमान ख़ुर्शीद, विदेश सचिव निरुपमा राव  और जानी-मानी हस्तियाँ मौजूद हैं.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा का हवाई जहाज़ एयर-फ़ोर्स-1 मुंबई से दिल्ली हवाई अड्डे पर पहुँच गया है.

ओबामा रविवार दोपहर दिल्ली में मुग़ल बादशाह हुमायूँ का मकबरा देखने जाएँगे और फिर रात में प्रमुख नेताओं और जानी-मानी हस्तियों के साथ रात्रिभोज करेंगे.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने रविवार सुबह कहा कि पाकिस्तान में राजनीतिक स्थिरता और लोकतांत्रिक मूल्यों की स्थापना सबसे ज़्यादा भारत के लिए  मायने रखती है

राष्ट्रपति ओबामा   का दिल्ली में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह स्वागत करेंगे.

दिल्ली   में वो हुमायूं का मकबरा देखने जाएंगे.

अमरीकी   राष्ट्रपति बराक ओबामा मुंबई से दिल्ली के लिए रवाना.

ओबामा   को मुंबई हवाई अड्डे पर विदाई दी गई.

राष्ट्रपति ओबामा    मुंबई से दिल्ली रवाना होने की तैयारी में.

राष्ट्रपति   ओबामा   सेंट ज़ेवियर्स से मुंबई के छत्रपति शिवाजी हवाई अड्डे पर पहुँचे.

दिल्ली   में अमरीकी राष्ट्रपति का स्वागत प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह करेंगे.

मुंबई    के सेंट ज़ेवियर्स कॉलेज के छात्रों के साथ बातचीत के बाद ओबामा अब दिल्ली रवाना होंगे.

मुंबई  में राष्ट्रपति ओबामा का ये अंतिम कार्यक्रम था.

ओबामा   ने सेंट ज़ेवियर्स के छात्रों का उन्हें बात रखने और सवाल पूछने के लिए धन्यवाद दिया.

ओबामा- जलवायु परिवर्तन जैसे समस्याएँ केवल भारत की नहीं विश्वभर की है.

ओबामा- पाकिस्तान की भी वहाँ अहम भूमिका है.

ओबामा- भारत की भूमिका भी अफ़ग़ानिस्तान में महत्वपूर्ण है.

ओबामा- यदि तालिबान कहते हैं कि वो हिंसा छोड़ना चाहते हैं तो उनसे बात की जा सकती है.

सवाल- अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान से बातचीत ये बताती है कि सैन्य हस्तक्षेप सफल नहीं रहा.  इराक़ में भी नीति सफल नहीं रही.

ओबामा- ये दोनों देश तय कर सकते हैं.

ओबामा- भारत और पाकिस्तान दोनों साथ साथ शांतिपूर्ण तरीके से रह सकते हैं.

ओबामा-  हम पाकिस्तान की मदद करना चाहते हैं.

ओबामा- पाकिस्तान में चरमपंथ एक कैंसर की तरह है.

ओबामा- हम  शांतिपूर्ण और स्थिर पाकिस्तान चाहते हैं और ये सबसे ज्यादा भारत के हित में है.

सवाल- पाकिस्तान अमरीका के लिए कितना महत्वपूर्ण है और वो इसे आतंकवादी राष्ट्र क्यों नहीं कहता है?

ओबामा- अगर हमारी अर्थव्यवस्था सबके लिए खुली है तो हम भारत से भी अपेक्षा करते हैं.

ओबामा- भारत के साथ रिश्ते पहले भी महत्वपूर्ण थे और आगे भी रहेंगे.

ओबामा-  मेरा मानना है कि भारत को लेकर नीतियों में कोई परिवर्तन नहीं आएगा.

ओबामा- आर्थिक क्षेत्र में हम प्रगति कर रहे हैं लेकिन अमरीकी लोगों की उम्मीद के मुताबिक नहीं कर रहे हैं. 

सवाल- मध्यावधि चुनावों से पता चलता है अमरीकी लोग बदलाव चाहते हैं,  आप इसे कैसे करेंगे? 

ओबामा:  सबसे पहले मेरी ज़िम्मेदारी अमरीकी लोगों की है, लेकिन हम अन्य देशों को भी नहीं भूल सकते हैं.

एक छात्रा   ने पूछा कि आप महात्मा गांधी का उल्लेख बार बार करते हैं लेकिन निजी जीवन में उनके सिद्धांतों को कितना अपनाते हैं?

राष्ट्रपति ओबामा   ने कहा कि भारत में सरकार निजी क्षेत्र की तुलना में धीमी है लेकिन सरकारी क्षेत्र में रहकर आप देश की सेवा कर सकते हैं.

उनका   कहना था कि समाज को अवश्य कुछ वापस करें.

ओबामा    ने गांधी का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने  एक पूरी पीढ़ी को दिशा दी.

एक छात्र    ने पूछा कि नैतिक मूल्यों पर उनकी क्या राय है?

ओबामा    ने कहा कि इस्लाम कुछ कट्टरपंथियों के कारण बदनाम हुआ है.

एक छात्रा   ने ओबामा से पूछा जिहाद के बारे में उनकी क्या राय है.

बराक ओबामा   ने कहा कि महात्मा गाँधी के सिद्धांत शास्वत हैं.

ओबामा   ने तीसरा सवाल किया कि आप लोग कैसे दुनिया को बेहतर बना सकते हैं.

राष्ट्रपति  ओबामा   ने  बर्मा में चुनाव का जिक्र किया.

बराक ओबामा   मुंबई के सेंट ज़ेवियर्स कॉलेज को संबोधित कर रहे हैं.

ओबामा   ने दूसरा सवाल पूछा कि छात्र 20 साल बाद  अमरीका से कैसा रिश्ता देखते हैं.

राष्ट्रपति ओबामा   छात्रों से पूछा कि वो बताएं 20 साल भारत कैसा होगा.

ओबामा   ने कहा कि भारत का भविष्य युवा तय करेंगे.

राष्ट्रपति ओबामा  ने कहा कि दिल्ली में वो प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मिलेंगे जिसमें आतंकवाद,  आर्थिक सहयोग पर बातचीत होगी. 

ओबामा    ने कहा कि उनका देश हर तरह के आतंकवाद पर सहयोग करने को तैयार है.

ओबामा    ने कहा कि दोनों देशों के बीच सहयोग की अपार संभावनाएँ हैं.

राष्ट्रपति ओबामा   का कहना था कि वो भारत के साथ सहयोग को लेकर आशांवित हैं. 

बराक ओबामा   ने नमस्ते कहकर सेंट ज़ेवियर्स कॉलेज के छात्रों का अभिवादन किया.

मिशेल ने छात्रों से कहा कि  बराक ओबामा से कुछ कठिन सवाल पूछें.

मिशेल ओबामा   ने कहा कि सपने देखते रहें.

मिशेल ओबामा   का कहना था कि उन्हें भारतीय युवाओं पर गर्व है.

मिशेल ओबामा    का कहना था कि  दुनिया की ज़िम्मेदारी आप जैसे युवाओं पर है.

मिशेल   का कहना था कि वो और बराक ओबामा उनसे उनके सपनों के बारे में सुनने आए हैं.

मिशेल ओबामा    का कहना है कि हमारे सपने एक से हैं.

मिशेल  ओबामा   सेंट ज़ेवियर्स  कॉलेज के छात्रों को संबोधित कर रही हैं. 

मिशेल ओबामा    ने नमस्ते कहकर लोगों को अभिवादन किया.

सेंट ज़ेवियर्स   कॉलेज के छात्रों से रूबरू होंगे ओबामा.

मुंबई   में ओबामा के अंतिम कार्यक्रम है,  इसके बाद वो दिल्ली रवाना हो जाएंगे.

ओबामा   थोड़ी देर में मुंबई में सेंट ज़ेवियर्स कॉलेज के छात्रों से रूबरू होंगे.

राष्ट्रपति ओबामा    ने राजस्थान    के कानपुरा गाँव के लोगों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से  बात की.

कानपुरा   गाँव के लोग जमा हैं लेकिन ओबामा की बात साफ़ सुनाई नहीं दे रही थी.

मुंबई   से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए ओबामा राजस्थान के कानपुरा गाँव के लोगों से बातचीत कर रहे हैं.

राजस्थान   के कानपुरा के गाँव के लोगों ने तकनीक के फायदे के बारे में राष्ट्रपति ओबामा को बताया.

ओबामा    की मुंबई में सैम पित्रोदा मदद कर रहे हैं.

केंद्रीय संचार    राज्यमंत्री सचिन पायलट   ने सबसे पहले गाँव वालों के बारे में जानकारी दी.

ओबामा   अजमेर के कानपुरा  गाँव के लोगों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से बात कर रहे हैं.

ओबामा    का सेंट ज़ेवियर्स कॉलेज में शिद्दत से इंतज़ार किया जा रहा है.

राष्ट्रपति    ओबामा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए किसानों से बात करेंगे.

इसके   पहले राष्ट्रपति ओबामा और मिशेल ओबामा ने होली नेम स्कूल में बच्चों  के साथ  महाराष्ट्र के कोली नृत्य में हिस्सा लिया.

मुंबई    में राष्ट्रपति ओबामा आज युवा भारतीयों से मुलाक़ात कर रहे हैं.

राष्ट्रपति    ओबामा होली नेम स्कूल से अब  सेंट ज़ेवियर्स कॉलेज रवाना हो गए हैं.

ओबामा   और मिशेल ओबामा मुंबई के होली नेम के स्कूलों में थिरके.

ओबामा   बच्चों को ऑटोग्राफ़ दे रहे हैं.

होली    नेम   स्कूल के बच्चे राष्ट्रपति ओबामा से बातचीत कर रहे हैं.

होली     नेम    स्कूल के बच्चे फ़ोटो खिंचवाने को लेकर उत्साहित हैं.

ओबामा    अब बच्चों के साथ फ़ोटो खिंचवा रहे हैं.

राष्ट्रपति    ओबामा और मिशेल ओबामा दोनों ने बच्चों के साथ नृत्य किया.

राष्ट्रपति    ओबामा भी नृत्य में शामिल हो गए हैं.

मिशेल    ओबामा बच्चों के साथ नृत्य कर रही हैं और ओबामा तालियाँ बजा रहे हैं.

अमरीकी    राष्ट्रपति बराक ओबामा और उनकी पत्नी मिशेल ओबामा मुंबई के होली नेम स्कूल में दीपावली का आनंद उठा रहे हैं.

ओबामा    और मिशेल ओबामा  नृत्य के साथ तालियाँ बजा रहे हैं.

राष्ट्रपति    ओबामा और मिशेल ओबामा ने तालियाँ बजाकर बच्चों के नृत्य पर प्रसन्नता व्यक्त की.

ओबामा    होली नेम स्कूल के बच्चों के नृत्य का आनंद उठा रहे हैं.

अमरीका    राष्ट्रपति नृत्य नाटिका देखकर प्रसन्न मुद्रा में नज़र आ रहे हैं.

ओबामा   के सम्मान में होली नेम के स्कूल के बच्चे नृत्य नाटिका पेश कर रहे हैं.

ओबामा    के  लिए मुंबई के होली नेम स्कूल में दीपावली का आयोजन रखा गया है.

अमरीकी    राष्ट्रपति के साथ उनकी पत्नी मिशेल ओबामा भी हैं.

ओबामा   ने होली    नेम    स्कूल में दीपक जलाया और उन्होंने बच्चों से बातचीत की.

राष्ट्रपति    ओबामा    होली   नेम स्कूल पहुँच गए हैं.

ओबामा   अपनी   भारत यात्रा के दूसरे दिन रविवार को मुंबई से दिल्ली  रवाना होंगे.

राष्ट्रपति   ओबामा दोपहर को  दिल्ली पहुँचेंगे.

दिल्ली    में शाम को वो हुमायूं का मकबरा देखने जाएँगे.

प्रधानमंत्री   मनमोहन सिंह ने रविवार शाम को उनके सम्मान में रात्रि भोज का आयोजन किया है.

ओबामा    इसके पहले रविवार को  मुंबई में होलीनेम स्कूल जाएँगे.

ओबामा   मुंबई के सेंट ज़ेवियर्स कॉलेज में एक  प्रदर्शनी भी देखने जाएँगे और छात्रों से रुबरू होंगे.

बराक ओबामा की यात्रा का दूसरा दिन

-------------------------

वॉशिंगटन में रिपब्लिकन पार्टी के शीर्ष नेता जॉन मैक्केन ने कहा है कि भारत के संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य बनने के प्रयासों को अमरीका का पूर्ण समर्थन मिलना चाहिए.  ग़ौरतलब है कि भारत पहुँचने के बाद  ओबामा ने अपनी यात्रा में इस विषय पर बात नहीं की है.

ओबामा से ताज होटल में मिलने वाले कुछ लोगों ने बीबीसी को बताया कि उन्होंने इन लोगों से हाथ मिलाया और उस दिन (मुंबई हमलों) की चर्चा की.

बीबीसी हिंदी सेवा के प्रसारण में संवाददाता विनीत खरे ने बताया है कि ओबामा का दौरा कड़ी सुरक्षा में हो रहा है और ताज होटल में कार्यक्रम के दौरान मुंबई तट से परे अरब महासागर में अनेक सुरक्षाकर्मी समुद्री जहाज़ों में मौजूद थे. 

अमरीकी राष्ट्रपति की पत्नी मिशेल ओबामा मुंबई विश्वविद्यालय में छात्रों से मिली हैं और उनसे बातचीत की है.  उन्होंने कहा - 'मेरे परिवार के पास बहुत ज़्यादा पैसे नहीं थे,  यदि आप भी अच्छी तरह पढ़ेंगे,  तो ऐसा कुछ  भी नहीं है जो आप नहीं कर सकते. ' उन्होंने चर्चित धुन......मोहे तू रंग दे बसंती पर बच्चों को साथ डांस भी किया.

ताज होटल की गेस्ट बुक में ओबामा ने लिखा - "हम 26/11 की घटनाओं को सदा याद रखेंगे, न केवल उनका  दुख बल्कि उस दिन जिस साहस और मानवीयता का परिचय दिया गया .........अमरीका पूरी मुंबई के साथ खड़ा  है ताकि आतंकवाद को जड़ से ख़त्म किया जाए. हम भारतीयों के साथ अपनी दीर्घकालिक दोस्ती के बारे में प्रतिबद्ध है."  ओबामा और मिशेल ने स्मारक पर एक-एक सफ़ेद गुलाब भी रखा. 

बीबीसी हिंदी सेवा प्रमुख अमित बरुआ   के अनुसार  ओबामा के  संदेश में पाकिस्तान का नाम  न लेने  पर हो रहा  शोर  अनुचित है.   उनके अनुसार ओबामा ने हमलावरों को सज़ा की बात कही  है और सभी जानते हैं कि कथित हमलावर कौन थे,  उनके ख़िलाफ़ तो भारत और पाकिस्तान की अदालतों में अभियोग भी चल रहे हैं!

अमित बरुआ का कहना है कि ओबामा ने मुंबई हमलों के घटनास्थल  ताज होटल जाकर स्पष्ट और दिलों को छूने  वाला संदेश दिया है.  इसके ज़रिए उन्होंने अमरीका में 9/11 और भारत में 26/11 के प्रभावितों जोड़ने का काम किया है.

राष्ट्रपति ओबामा ने शनिवार शाम मुंबई में उद्योगपतियों को संबोधित करते हुए  कहा कि दोनों देशों को बीच व्यापार पाँच साल में दो गुना करने का लक्ष्य है.  उन्होंने ये भी कहा कि भारत अमरीका का 12वें नंबर का व्यापार सहयोगी है जबकि दोनों देशों में सहयोग की  कहीं अधिक  क्षमता है. 

भारत के उद्योगपतियों को सबोधित करते हुए राष्ट्रपति ओबामा ने दोनों देशों के बीच 10 अरब डॉलर के 20  समझौतों की घोषणा की और कहा कि इससे अमरीका में 50 हज़ार से अधिक   नौकरियाँ पैदा होंगी.  

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने मुंबई हमलों पर अपने संदेश के बाद,  भारत-अमरीका उद्योग संगठन को संबोधित किया है.

ओबामा:  तीस लाख भारतीय अमरीकी हमारे देशों को साथ जोड़े हुए हैं.  आम लोग - अमरीकी कृषि विज्ञानिक, भारतीय उद्योगपति...दुकानदार उनका सकारात्मक रवैया दोनों देशों को आगे लेकर जाएगा,  अमरीका-भारत सहयोग 21वीं सदी में सहयोग में मील का पत्थर साबित होगा.  धन्यवाद...

ताज होटल में गेस्ट बुक में ओबामा ने लिखा - "हम 26/11 की घटनाओं के सदा याद रखेंगे, न केवल उससे हुआ दुख बल्कि उस दिन जिस साहस और मानवीयता का परिचय दिया गया, वह भी...अमरीका पूरी मुंबई के साथ एकजुट है ताकि आतंकवाद को जड़ से ख़त्म किया जाए. हम भारतीयों के साथ अपनी दीर्घकालिक दोस्ती के बारे में प्रतिबद्ध है."  ओबामा और मिशेल ने मुंबई हमलों के मृतकों के स्मारक पर एक-एक सफ़ेद गुलाब भी रखा. 

ओबामा:  हमारे दोनों देशों में उद्योग जगत में नया कर दिखाने की भूख है. दोनों देश विज्ञान, आधारभूत ढांचे,  इल्म के क्षेत्रों में निवेश करना चाहते हैं. दोनों लोकतंत्र में विश्वास करते हैं, चाहे वो धीमा हो, चाहे चुनावी नतीजे उम्मीद के अनुसार न हों.....

ओबामा:   राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ-साथ उच्च तकनीक में सहयोग हो सकता है.  कृषि से लेकर आधारभूत ढांचे तक  कुछ चुनौतियाँ हैं, भारत इसमें बड़ा निवेश कर रहा है. मुझे विश्वास है कि हम इन चुनौतियाँ का सामना करेंगे. 

ओबामा:  भारत और अमरीका के बीच सहयोग और बढ़ सकता है. हम कोशिस करेंगे कि इस देश की कंपनियों को बिना बात से निशाना न बनाया जाए.

ओबामा: अनेक उदाहरण हैं जहाँ अमरीकी और भारतीय कंपनियाँ एक दूसरे के यहाँ निवेश और काम कर रही हैं. दोनों देशों के बीच आर्थिक सहयोग ख़ासा हो सकता है. भारत अमरीका से केवल 10 प्रतिशत आयात करता है और अमरीका का 12वाँ ट्रेडिंग पार्टनर हैं.

ओबामा:  भारत अमरीका में काफ़ी निवेश,  अरबों डॉलर का निवेश  कर रहा है जिससे अमरीका में नौकरियाँ पैदा हो रही है.

ओबामा ने कहा कृषि, पर्यटन और शिक्षा अहम क्षेत्र हैं. मैंने सुबह ही हार्ले-डेविडसन का विज्ञापन मुंबई में देख.  उन्होंने कहा कि 20 से अधिक समझौतों में 10 अरब से अधिक डॉलर और अमरीका में 50 हज़ार नौकरियाँ पैदा होंगी.

अमरीकी राष्ट्रपति  कहा कि अमरीका निर्यात करना चाहता है और भारत में बाज़ार है, हम अगले पाँच साल इसे दोगुना करना चाहते हैं, पिछले कई साल में ये तीन गुना हो चुका है. इससे अमरीका में नौकरियाँ पैदा होंगी.

राष्ट्रपति ओबामा ने कहा हो सकता है कई लोग सहमत न हो कि भारत-अमरीका वाणिज्य सहयोग सबकी बेहतरी के लिए नहीं, कुछ भारत व्यापारी फ़िक्रमंद हो सकते हैं लेकिन ये पुरानी बात है.

ओबामा ने कहा कि दशकों को लाइसेंस राज के बाद,  तकनीक और अर्थव्यवस्था में भारत की उपलब्धी इस सदी की सबसे अहम उपलब्धी है. भारत भविष्य की मार्किट है. हम निवेश करना चाहते हैं.

उन्होंने कहा कि हरित क्रांति ने भारत के लोगों को लिए अनाय पैदा किया और वह अमरीका के सहयोग से हुआ.

ओबामा  ने कहा कि राष्ट्रपति बनने के बाद किसी भी देश की उनकी ये सबसे लंबी यात्रा है. उन्होंने कहा  दोनों देशों के बीच सहयोग 21वीं सदी का सबसे अहम सहयोग होगा.

ओबामा ने कहा 'हैपी दिवाली और नया साल मुबारक़'

ओबामा इस समय अमरीका-भारत बिज़नेस सम्मेलन को संबोधित कर रहे हैं और दिवाली का ज़िक्र कर रहे हैं.

ओबामा के भारत आने से पहले  अमरीकी फ़ेडरल रिज़र्व ने अर्थव्यवस्था में 600 अरब डॉलर डालने की घोषणा की थी.

अमरीका में मध्यावधि चुनावों में प्रतिनिधि सभा में बहुमत  गँवाकर, भारत यात्रा से पहले  ओबामा अमरीका के उद्योग में तेज़ी और अमरीकियों के लिए नौकरियों की बात करते रहे हैं.

भारत में उद्योग जगत में उम्मीद जताई जा रही है ओबामा की यात्रा के दौरान भारतीय उद्योग सहयोग और रियायत की भाषा सुनेगा.

अमरीकी राष्ट्रपति अब मुंबई हमलों से प्रभावित हुए ऑबरॉय ट्राइडेंट होटल पहुँच गए हैं. 

ओबामा कड़ी सुरक्षा के बीच मणि भवन में गांधीवादी नेताओं और अन्य प्रमुख लोगों से मिले.  वे गांधी को अपना प्रेरणा स्रोत मानते हैं. 

राष्ट्रपति बराक ओबामा महात्मा गांधी संग्रहालय जाने के बाद शाम में भारत और अमरीका के उद्योगपतियों को संबोधित करेंगे.

राष्ट्रपति ओबामा ने अपने संदेश  में गांधी जी की हत्या के बाद   प्रधानमंत्री नेहरु के शब्द दोहराते हुए कहा - 'हम आज़ादी की  मशाल को कभी बुझने नहीं देंगे, अमरीकी इस कथन पर विश्वास करते हैं और भारतीय भी.'  ओबामा अब मुंबई में मणि भवन  गए हैं.

भाजपा   के नेता राजीव प्रताप रूडी ने एक बयान में  टीवी चैनल एनडीटीवी पर कहा कि 'संदेश में मुंबई हमलों के संदर्भ में पाकिस्तान का ज़िक्र न होना,  निराशाजनक है.' 

भारत   के प्रमुख विपक्षी दल भाजपा ने  दावा किया  कि 'ओबामा के शुरुआती बयान ने पूरे  देश को निराश किया है.' 

अमरीकी   राष्ट्रपति महात्मा गांधी को अपना प्रेरणा स्रोत मानते हैं और अब वो मुंबई में मणि भवन में हैं जहाँ गांधी जी रहते थे.

राष्ट्रपति   ओबामा कुछ ही घंटे पहले भारत पहुँचकर पहले मुंबई में ताज होटल पर गए  और मुंबई हमलों के दौरान मारे गए लोगों को याद किया और भातीयों-मुंबई निवासियों के साहस की सराहना की..  

ओबामा अपनी पत्नी मिशेल के साथ अब मुंबई में लेबरनम रोड पर स्थित मणि भवन पहुँच गए हैं जहाँ महात्मा गांधी रहे थे.

राष्ट्रपति ओबमा ने अपने संदेश  में गांधी जी की हत्या के बाद   प्रधानमंत्री नेहरु के शब्द दोहराते हुए कहा - 'हम आज़ादी की उस मशाल को कभी बुझने नहीं देंगे, अमरीकी इस कथन पर विश्वास करते हैं और भारतीय भी.'

ओबामा ने कहा कि मुंबई हमलों के दौरान हिंदुओं, सिखों, ईसाइयों और मुसलमानों ने साहस और एकजुटता दिखाई और हमलावर मुंबई को डराने में नाकाम रहे.

अमरीकी राष्ट्रपति ने कहा कि मुंबई के हमलावर विभिन्न धर्मों के लोगों को निशाना बनाना चाहते थे और दरार पैदा करना चाहते थे लेकिन वे कामयाब नहीं हुए.

ओबामा ने कहा कि मुंबई हमलों के दौरान बंधक बनाए गए सभी लोगों ने एक-साथ काम किया, होटलकर्मियों ने भी व्यक्तिगत और पारिवारिक दुख के बावजूद अपना काम किया.

ओबामा ने कहा कि अमरीकियों ने भी भारतीयों के साथ मुंबई हमलों की तस्वीरें और घटनाक्रम को टीवी पर देखा और अफ़सोस ज़ाहिर किया.

अमरीकी राष्ट्रपति ने कहा कि वे भारत आते ही,  मुंबई में ताज होटल जाकर स्पष्ट संदेश भेजना चाहते हैं...और इस संदेश में ये भी शामिल है कि 'भारत और अमरीका एकजुट हैं और साथ खड़े हैं.'

ओबामा ने अपनी पत्नी  मिशेल के साथ ताज होटल के बाहर खड़े होकर दिए अपने  संबोधन में 26/ 11 हमलों के दौरान भारतीयों, मुंबई  निवासियों,  सुरक्षाकर्मियों, होटलकर्मियों के साहस की सराहना की है. 

ओबामा ने कहा कि 26/11 के हमलावर  हमारे बीच दरार पैदा करना चाहते थे और 26/11  के हमलावरों को  सज़ा मिलनी ही चाहिए.

ओबामा ने होटल ताज में  विज़िटर्स बुक में बाएँ हाथ से अपना संदेश लिखा.  साथ ही उनकी पत्नी मिशेल ओबामा ने भी संदेश लिखा. 

राष्ट्रपति ओबामा ने मुंबई के ताज होटल पहुँचकर अपने संदेश के साथ-साथ 26/11 हमलों में मारे गए लोगों को याद किया लेकिन पाकिस्तान का ज़िक्र नहीं किया. 

राष्ट्रपति ओबामा ने कहा कि 26/11 के हमलावर दुनिया के निर्दोष लोगों को निशाना बनाने आए थे.

अमरीकी राष्ट्रपति ने कहा कि ताज होटल भारतीयों की शक्ति  का प्रतीक है. वे बोले - 'मैं 26 नवंबर की तस्वीरें भूल नहीं सकता.' 

राष्ट्रपति ओबामा ने कहा कि मुंबई ऊर्जा और सकारात्मक सोच का प्रतीक है.

ओबामा ने कहा कि भारत के साथ आतंकवाद का सामना करने के लिए दोनों देशों के बीच सहयोग को  और आगे ले जाना होगा.

ओबामा ने कहा कि भारत और अमरीका आतंकवाद का सामना करने  के  लिए पूरा सहयोग कर रहे हैं.

अमरिकी राष्ट्रपति मुंबई में ताज होटल पर अपना संदेश दे रहे हैं.

उनका स्वागत महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण और उनकी अगवानी के लिए गए केंद्रीय मंत्री सलमान ख़ुर्शीद ने किया.

राष्ट्रपति ओबामा भारतीय समयानुसार  दोपहर 12 बजकर 45 मिनट पर छत्रपति शिवाजी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरे.

अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा अपनी पत्नी मिशेल ओबामा के साथ भारत की  आर्थिक राजधानी मुंबई पहुंच गए हैं.

 

ओबामा और मिशेल दिल्ली में मुग़ल बादशाह हुमायूँ के मकबरे का दौरा कर रहे हैं

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.