बिहार में 49.84 फ़ीसदी मतदान

बिहार चुनाव

बिहार में विधानसभा चुनाव के पाँचवे दौर में 49.84 प्रतिशत मतदान हुआ है. इस दौरान पुलिस ने एहतियात के तौर पर 270 लोगों को गिरफ़्तार किया.

पाँचवें दौर में राज्य के आठ ज़िलों की 35 विधानसभा सीटों के लिए मतदान हुआ.

चुनाव अधिकारियों के अनुसार दोपहर एक बजे तक 30 फ़ीसदी मतदान हुआ था.

सबसे अधिक मतदान गया ज़िले में 35 फ़ीसदी और सबसे कम अरवल विधानसभा क्षेत्र में 24 फ़ीसदी हुआ.

पटना के पास फुलवारी शरीफ़ मुस्लिम बहुल इलाक़े में लोगों की भीड़ लगी थी और ग्रामीण और शहरी इलाक़ों में लोगों की गहमागहमी थी.

लेकिन भुसौला और हुलासचक के लोगों का कहना था कि मतदाता पहचानपत्र होने के बावजूद उनके नाम मतदाता सूची में नहीं थे.

उनका कहना था कि लगभग 350 लोगों को मतदान में हिस्सा नहीं लेने दिया गया. उनका आरोप था कि राजनीतिक कारणों से ऐसा किया गया है.

उल्लेखनीय है कि इन 35 सीटों में से अधिकांश यानि 22 सीटों पर वर्ष 2005 के चुनाव में जनता दल यूनाइटेड और भारतीय जनता पार्टी (जदयू-भाजपा) गठबंधन की जीत हुई थी.

अहम दौर

इस दौर में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रभाव वाले गृहक्षेत्र नालंदा ज़िले की वो सात सीटें भी शामिल हैं, जिनमें से एक पर भाजपा और बाक़ी सभी छह सीटों पर जदयू को पिछले चुनाव में सफलता मिली थी.

पांचवे दौर की 35 सीटों में से छह पर राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और एक पर अभी लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) का कब्ज़ा है.

Image caption ऐसा अनुमान है कि इस दौर में सबसे अधिक मतदान हो सकता है.

बाक़ी दो भाकपा- माले और दो कांग्रेस के हिस्से में है जबकि नवादा ज़िले में तीन सीटों पर निर्दलीय उम्मेदवार जीते थे.

इस बार के चुनाव में लालू प्रसाद यादव की पूरी कोशिश ये है कि मध्य बिहार में राजद गठबंधन की सीटें बढाकर नीतीश कुमार के सबसे पुख़्ता राजनीतिक आधार को तोड़ा जाए.

मंगलवार का मतदान जिन क्षेत्रों में हो रहा है, उनमें पटना ज़िले के चार, नालंदा के सात, शेखपुरा के दो, जहानाबाद के तीन, अरवल के दो, गया के पांच और नवादा ज़िले के भी पांच विधानसभा क्षेत्र शामिल हैं.

तमाम संवेदनशील बूथों पर केंद्रीय सुरक्षा बल के जवानों की तैनाती की गई थी.

संबंधित समाचार