छत्तीसगढ़ के थाने में बलात्कार

छत्तीसगढ़ पुलिस (फ़ाइल फ़ोटो)
Image caption पुलिसकर्मियों के ख़िलाफ़ गुरूवार को रिपोर्ट दर्ज की गई

एक पुलिस थाने में कथित रूप से दो युवतियों के साथ बलात्कार के बाद छत्तीसगढ़ के धर्मजयगढ़ क़स्बे में तनाव है.

घटना से गुस्साए लोगों ने गुरूवार रात से थाने का घेराव कर रखा है और लगभग 15 से 16 घंटे बीत जाने के बाद भी वहाँ से हटने का नाम नहीं ले रहे हैं.

उनका कहना है कि वह उच्च अधिकारियों से मुलाक़ात के बाद ही धरना समाप्त करेंगें.

ज़िला पुलिस अधीक्षक राहुल शर्मा दूसरे अधिकारियों के साथ शुक्रवार दिन को घटनास्थल के लिए रवाना हो गए हैं.

उन्होंने बीबीसी से कहा कि वे इसके लिए ज़िम्मेदार जवानों की शिनाख़्त करने की कोशिश कर रहे हैं और अगर उन्हें दोषी पाया गया तो उनके ख़िलाफ़ सख़्त कारवाई की जाएगी.

युवतियों का आरोप है कि स्थानीय थाने के चार पुलिसकर्मियों ने उनके साथ बारी-बारी से बलात्कार किया है.

उनका कहना है कि मंगलवार शाम वह अपने घर आए मेहमानों को छोड़ने बस स्टैंड गई हुईं थीं तभी वहाँ पुलिस की गाड़ी आ गई और मेहमानों को हिरासत में ले लिया. इसी सिलसिले में दोनों लड़कियाँ थाने पहुँचीं तो वहाँ तैनात पुलिसकर्मी उन्हें परिसर में स्थित एक घर में ले गए और उनके साथ बलात्कार किया.

युवतियों का आरोप है कि उनके साथ बारी-बारी से दुष्कर्म किया गया.जिसके बाद उन्हें यह कहते हुए भगा दिया कि अगर उन्होंने इस घटना के बारे में किसी को बताया तो उन्हें जेल भेज दिया जाएगा. पूरी घटना से सहमी युवतियों ने कई दिन गुज़र जाने के बाद ये बात घर में बताई.

क़स्बे में बात के फैलते ही स्थानीय लोग उत्तेजित हो गए और उन्होंने थाने को चारों ओर से घेर लिया है.

मगर इतने हंगामे के बावजूद पुलिस मामला दर्ज करने से कतराती रही लेकिन आख़िर गुरुवार को मामला दर्ज किया गया.

संबंधित समाचार