भ्रष्टाचार और लालच बढ़ रहा है: सोनिया

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दिल्ली में एक समारोह में कहा है कि देश में भ्रष्टाचार और लालच बढ़ रहा है जिससे उन मूल्यों को नुकसान पहुँच रहा है जिनके आधार पर आज़ाद भारत का उदय हुआ था.उन्होंने कहा कि भारत को ज़्यादा कुशल सरकार की ज़रूरत है.

सोनिया गांधी का कहना था, "देश की अर्थव्यवस्था भले ही बढ़ रही हो लेकिन हमारे नैतिक मूल्य गिर रहे हैं. हमें ये नहीं भूलना चाहिए कि केवल बेहतर विकास अपने आप में हमारा लक्ष्य नहीं होना चाहिए. उससे ज़्यादा ज़रूरी है कि हम कैसा समाज बनाना चाहते हैं और कैसे मूल्य उसमें डालना चाहते हैं."

हाल में 2जी स्पेक्ट्रम समेत कई कथित घोटाले सामने आए हैं और इसे देखते हुए सोनिया का ये बयान काफ़ी अहम है.

'कुछ ग़लत नहीं किया'

इस बीच 2जी स्पेकट्रम मामले में आलोचना झेल रहे प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का राहुल गांधी और नए टेलीकॉम मंत्री कपिल सिब्बल ने बचाव किया है.

संसद के बाहर पत्रकारों से बातचीत में राहुल गांधी ने कहा, "मुझे नहीं लगता है कि प्रधानमंत्री ऐसी किसी स्थिति में है जहाँ कोई शर्मिंदगी हो."

राहुल गांधी से पूछा गया था कि क्या उन्हें लगता है कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों ने प्रधानमंत्री को ऐसी स्थिति में डाल दिया है.

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को 2जी मामले पर प्रधानमंत्री की चुप्पी पर सवाल उठाए थे.

सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को केंद्र सरकार को निर्देश दिए हैं कि सुब्रमण्यम स्वामी और प्रधानमंत्री के बीच हुए पत्र-व्यवहार के बारे में शुक्रवार शाम तक एक शपथ पत्र दाख़िल करे.

दरअसल यह मामला सुब्रमण्यम स्वामी की याचिका के बाद शुरु हुआ जिसमें उन्होंने कहा था कि वे संचार मंत्रालय में 2जी स्पैक्ट्रम घोटाले के मामले में ए राजा के ख़िलाफ़ मुक़दमा चलाने की अनुमति माँग रहे हैं लेकिन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह इस पर चुप्पी साधे हुए हैं.

कोर्ट ने कहा है कि क्या वजह थी कि मनमोहन सिंह अनुमति देने के इस आवेदन पर 11 महीनों तक चुप्पी साधे बैठे रहे.

वहीं नए दूरसंचार मंत्री कपिल सिब्बल ने कहा है कि जहाँ तक प्रधानमंत्री कार्यालय की बात है तो कुछ भी ग़लत नहीं हुआ है.

संबंधित समाचार