'बिहार ने नई कहानी लिख दी है'

Image caption नीतीश कुमार ने कहा है कि बिहार की जनता अब जातीय समीकरण से आगे बढ़ चुकी है.

विशाल बहुमत से एक बार फिर मुख्यमंत्री बन रहे नीतीश कुमार ने कहा है कि इस चुनाव में बिहार ने एक नई कहानी लिखी है जिसमें साबित हो गया है कि अब सिर्फ़ काम को वोट मिलेगा.

कुल 243 सीटों की विधानसभा में लगभग 200 सीटों की ओर बढ़ रहे जनतांत्रिक गठबंधन की जीत को उन्होंने बिहार के लोगों की जीत बताया.

नीतीश कुमार का कहना था कि ये चुनाव एक प्रयोग था कि बिहार की जनता काम को वोट देगी या नहीं.

उन्होंने कहा, “बिहार ने ये साबित कर दिया कि जातीय समीकरण नहीं बल्कि विकास और काम को वोट मिलेगा. अब प्रतिस्पर्धा चुनाव को मैनेज करने की नहीं बल्कि ज़्यादा से ज़्यादा काम करने की होगी.”

उनका कहना था कि बिहार अब जातीय समीकरणों से काफ़ी आगे निकल चुका है.

उनका कहना था, “अभी बहुत कुछ करना बाकी है, काम तो अभी शुरू हुआ है.”

उन्होंने विपक्ष की ओर से सहयोग की उम्मीद जताई और कहा कि ये स्पष्ट है कि यदि आप लोगों के बीच रहेंगे, अपेक्षा के अनुरूप काम करेंगे तो लोग उसे अहमियत देंगे.

उनका कहना था, “जनता ने जो जनादेश दिया है उससे मैं अभिभूत हूं और अब और बड़ी ज़िम्मेदारी है मुझ पर. मेरी अब प्रार्थना यही होगी कि मैं उनकी उम्मीद पर खरा उतर सकूं.”

उन्होंने कहा कि उनके पास कोई जादू की छड़ी तो नहीं है लेकिन लोगों का विश्वास है और काम करने की लगन है.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने उन्हें फ़ोन करके बधाई दी है और वो दिल्ली जाकर बिहार के अनेक लंबित मामलों पर उनसे बात करेंगे.

नीतीश कुमार ने अपने पद से बुधवार को इस्तीफ़ा दे दिया और विधानसभा को विघटित कर दिया.

उन्होंने कहा कि गुरूवार को उनकी बैठक होगी और शुक्रवार को सरकार बनने की संभावना होगी.

संबंधित समाचार