आंध्र सरकार में उपमुख्यमंत्री भी होगा

Image caption इसके पहले किरण कुमार रेड्डी आंध्र विधानसभा में स्पीकर थे

नल्लारी किरण कुमार रेड्डी ने आंध्र प्रदेश के 16वें मुख्यमंत्री के रूप में गुरुवार को शपथ ग्रहण कर ली. राज्यपाल इएसएल नरसिम्हन ने राजभवन में आयोजित एक समारोह में उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई.

मुहूर्त के अनुसार किरण कुमार रेड्डी ने 12 बजकर 14 मिनट पर शपथ ली.

इस अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री के रोसैया, कांग्रेस के केंद्रीय नेता वीरप्पा मोइली और ग़ुलाम नबी आजाद और कांग्रेस के अधिकतर विधायक और सांसद मौजूद थे. 48 वर्षीय किरण कुमार रेड्डी ने गुरुवार को अकेले ही शपथ ली.

उन्होंने कहा कि वो आलाकमान से सलाह मशविरे के बाद अपने मंत्रिमंडल का विस्तार करेंगे. वो पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी और अन्य नेताओं से मिलने के लिए गुरुवार को ही दिल्ली जा रहे हैं. कांग्रेस के प्रभारी वीरप्पा मोइली ने इस बात की पुष्टि की है कि एक उपमुख्यमंत्री भी नियुक्त किया जाएगा.

दलित उपमुख्यमंत्री

उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी ने ये फ़ैसला किया है कि तेलंगाना के किसी दलित नेता को उपमुख्यमंत्री पद दिया जाए.

इस संबंध में जिन नेताओं का नाम सबसे आगे चल रहा है उनमें गीता रेड्डी और दामोदर राजानरसिम्हा शामिल हैं.

डॉ गीता रेड्डी का संबंध दलित समुदाय से है लेकिन उनके पति एक रेड्डी हैं. जहाँ तक मंत्रिमंडल का सवाल है, उसमें मौजूदा मंत्रियों की जगह नए चेहरों को लेने की संभावना है. सन 2009 में राजशेखर रेड्डी ने जो मंत्रिमंडल गठित किया था, उसमें उनकी मृत्यु के बाद के रोसैय्या ने कोई फेरबदल नहीं किया था.

लेकिन अब ऐसे कुछ मंत्रियों को हटाए जाने के संकेत हैं जिन्होंने पार्टी आलाकमान की मर्ज़ी के ख़िलाफ़ जगन मोहन रेड्डी का समर्थन किया था और उनकी यात्रा में भाग लिया था. इनमें पिल्ली सुभाष चंद्र बोस भी शामिल हैं.

जिन नए चेहरों को मंत्रिमंडल में लिए जाने की संभावना है उनमें शशिधर रेड्डी और शंकर राव के नाम शामिल हैं.

इस बात के भी संकेत हैं कि सविता इन्द्र रेड्डी को गृह मंत्री के पद पर नहीं बनाए रखा जाएगा. उन्हें वाईएसआर ने गृह मंत्रालय की ज़िम्मेदारी सौंपी थी.

संबंधित समाचार