एक हफ़्ते में कम होगा किराया: पटेल

Image caption नागरिक उड्डयन मंत्री का कहना है कि डीजीसीए को अधिकार है कि वो जनता के हक़ में फ़ैसला करे.

भारत के नागरिक उड्डयन मंत्री प्रफुल्ल पटेल ने कहा है कि एक सप्ताह के अंदर आसमान चूम रहे विमान किराए नीचे आ जाएंगे.

पटेल ने ये बयान मुंबई में दिया है वहीं दिल्ली में नागरिक उड्डयन महानिदेशालय यानि डीजीसीए ने निजी एयरलाइंस के साथ बैठक की है.

प्रफुल्ल पटेल का कहना था, “मुझे यकीन है कि एक सप्ताह मे सुधार के कदम उठा लिए जाएंगे.”

उनका कहना था, “नियामक बेबस नहीं है. ये नहीं मानना चाहिए कि वो कोई कार्रवाई नहीं कर सकता. ज़रूरत होगी तो वो ऐसा करेंगे.”

उन्होंने कहा कि यदि एयरलाइंस ने कदम नहीं उठाए तो डीजीसीए को ये अधिकार होगा कि वो ऐसे कदम उठाए जो विमान यात्रियों के हक़ में हो.

दिल्ली में डीजीसीए ने तीन सस्ती एयरलाइंस कही जानेवाली कंपनियों—स्पाइस जेट, इंडिगो और गो एयर---के उच्च अधिकारियों को बुलाया था.

Image caption किंगफिशर एयरलाइंस के मालिक विजय मालया ने सरकारी दखल की आलोचना की है.

बैठक के बाद डीजीसीए के निदेशक ई के भारत भूषण ने कहा, “इस पूरी प्रक्रिया का उद्देश्य है कि किराए उचित हों.”

उन्होंने कहा कि सोमवार को एयर इंडिया, जेट एयरवेज़ और किंगफिशर एयरलाइंस के प्रतिनिधियों को भी बैठक के लिए बुलाया गया है.

वहीं बैंगलोर में किंगफ़िशर एयरलाइंस के अध्यक्ष विजय मालया ने किराए पर लगाम कसने की सरकारी पहल की आलोचना की है.

उनका कहना था, “एयरलाइंस की सीट मांग और आपूर्ति यानि डिमांड-सप्लाई से चलती है. दुनिया भर में सीटों की बिक्री इसी के ज़रिए होती है तो फिर इस पर इतना हाय तौबा क्यों मचाया जा रहा है.”

उन्होंने कहा, “मेरा सरकार से अनुरोध है कि वो विमान इंधन पर लगने वाले टैक्स को कम करे और हम इसका लाभ ग्राहकों को देने को तैयार हैं.”

संबंधित समाचार