विकीलीक्स: लश्कर के निशाने पर थे नरेंद्र मोदी

  • 6 दिसंबर 2010
नरेंद्र मोदी
Image caption विकीलीक्स के अनुसार मोदी लश्कर-ए-तैबा के निशाने पर थे.

विकीलीक्स के ज़रिए सामने आए गोपनीय अमरीकी दस्तावेज़ों से पता चला है कि लश्कर-ए-तैबा ने गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की योजना बनाई थी.

इसकी जानकारी विकीलीक्स के ज़रिए सामने आए 19 जून 2009 के एक गोपनीय अमरीकी दस्तावेज़ से मिलती है.

विकीलीक्स के ज़रिए सामने आए गोपनीय संदेश में लिखा है, " ख़ुफ़िया रिपोर्टों के अनुसार लश्कर का एक भारतीय सदस्य हुसैन जून की शुरूआत में तीन वारदातों की योजना बना रहा था. ये तीन वारदातें थीं - गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के ख़िलाफ़ संभावित ऑपरेशन, प्रशिक्षण केंद्रों की स्थापना और कार का इस्तेमाल कर एक अनजान काम को अंजाम देना. "

संदेश में लिखा है कि हुसैन इन वारदातों के लिए समीर नाम के एक अन्य सहयोगी के साथ समन्वय स्थापित करने वाला था.

इस दस्तावेज़ के अनुसार लश्कर ने श्रीलंका में अपना ठिकाना तैयार करने के बाद दक्षिण भारत में हमले करने के लिए केरल और तमिलनाडू को अपना अड्डा बनाने की भी योजना बनाई थी.

दक्षिण भारत

ख़ुफ़िया संदेश में अमरीकी विदेश विभाग ने ये जानकारी विभिन्न स्रोतों से जमा की है जिनका विवरण दस्तावेज़ में मौजूद नहीं है.

गोपनीय दस्तावेज़ में लिखा है कि लश्कर के शफ़ीक़ खफ़ा दक्षिण भारत में दो टीमें बनाने की कोशिश में हैं जो भारत, श्रीलंका, पाकिस्तान और नेपाल स्थित लश्कर-ए-तैबा के सदस्यों से सहायता लेंगी.

गोपनीय संदेश के मुताबिक, 'मई की शुरूआती रिपोर्टों के अनुसार श्रीलंका में ठिकाना बनाने के बाद केरल और तमिलनाडू को ऑपरेशन का अड्डा बनाया जा सकता है. ये काम दो से तीन महीने में अंजाम दिया जा सकता है. '

संदेश में ये भी लिखा है कि शफ़ीक़ खफ़ा तमिलनाडू, कर्नाटक और केरल में संभावित प्रशिक्षण स्थलों के बारे में जानकारी हासिल करना चाह रहा था.

संबंधित समाचार