वेन जियाबाओ की भारत यात्रा

बीबीसी हिंदी की विशेष लाइव कमेंटरी. बीबीसी हिंदी की विशेष लाइव कमेंटरी.
यह अपने आप अपडेट होता रहेगा.

ताज़ा पेज देखें

तालियों के बीच वेन जियाबाओ ने अपना भाषण ख़त्म किया.

वेन जियाबाओ-महात्मा गांधी के सिद्धांत हमेशा मेरे मन में रहते हैं. वे बहुत महान व्यक्ति थे.

चीन संयुक्त राष्ट्र और सुरक्षा परिषद में भारत की बढ़ती भूमिका को समझता है और इसका समर्थन भी करता है.

चीनी प्रधानमंत्री- दोनों देशों के मीडिया के बीच आदान-प्रदान में सुधार की आवश्यकता.

बीबीसी संवाददाता नितिन श्रीवास्तव हमें लगातार चीनी प्रधानमंत्री के भाषण के बारे में अवगत करा रहे हैं.

वेन जियाबाओ के मुताबिक़ चीन भारत के आई उत्पादों को अपने बाज़ार में लाने के लिए क़दम उठाएगा.

चीनी प्रधानमंत्री ने कहा कि दोनों देशों के बीच सीमा-विवाद ऐतिहासिक है...इसलिए इसे हल करने में वक़्त लगेगा.

वेन जियाबाओ: हम हमेशा दोस्त बने रहेंगे प्रतिद्वंद्वी नहीं.

उन्होंने कहा कि उनकी भारत यात्रा सफल रही है. अब सहमति को सच्चाई में बदलने की आवश्यकता है.

चीनी प्रधानमंत्री ने कहा- हमारी आबादी दुनिया की  आबादी का 2/5वाँ हिस्सा है. हमें मिलकर दुनिया को मज़बूत करने की कोशिश करनी चाहिए.

वेन: दुनिया बदल रही है. भारत और चीन को इस मौक़े का लाभ उठाकर मिलकर काम करना चाहिए.

चीनी प्रधानमंत्री ने उन लोगों का धन्यवाद दिया, जो भारत-चीन संबंध में भरोसा करते हैं.

वेन जियाबाओ:  भारत चीन का सबसे बड़ा व्यापार साझेदार है. जलवायु परिवर्तन पर भी हमने मिल कर काम किया.

चीनी प्रधानमंत्री ने भी पंचशील की सराहना की और कहा कि भारत उन देशों में शामिल, जिन्होंने नए चीन से राजनयिक संबंध जोड़ा.

वेन ने कहा मनमोहन सिंह उनके अच्छे मित्र.

चीनी प्रधानमंत्री ने कहा भारत वैश्विक आर्थिक संकट से शानदार तरीक़े से निपटा.

वेन जियाबाओ: भारत-चीन की दोस्ती दोनों देशों के छात्रों के हाथ में.

चीनी प्रधानमंत्री ने कहा कि रवींद्रनाथ टैगोर का नाम चीन में चर्चित.

वेन जियाबाओ ने भाषण शुरू किया.

उन्होंने पंचशील की बात की और कहा कि इसे मज़बूत बनाया जा रहा है.

भारतीय विदेश मंत्री ने कहा कि पिछले आठ साल से वेन जियाबाओ भारत-चीन संबंध को मज़बूत करने की कोशिश कर रहे हैं.

इस समय एसएम कृष्णा लोगों को संबोधित कर रहे हैं.

विदेश मंत्री एसएम कृष्णा और विदेश सचिव निरुपमा राव भी मौजूद.

नितिन श्रीवास्तव- वेन जियाबाओ आईसीडब्लूए पहुँचे.

आईसीडब्लूए में पत्रकारों और राजनयिकों का जमावड़ा. वेन यहाँ भारत-चीन रिश्तों पर भाषण देंगे.

निरुपमा राव की प्रेस ब्रीफ़िंग ख़त्म.

इस बीच आईसीडब्लूए में चीनी प्रधानमंत्री के भाषण की तैयारी पूरी हो चुकी है. हमारे संवाददाता नितिन श्रीवास्तव वहाँ मौजूद हैं.

भारत अपने यहाँ चीन विरोधी गतिविधि नहीं चलने देगा.

निरुपमा राव: कश्मीर भारत के लिए चिंता का विषय है और चीन इससे अवगत है.

भारत और चीन के बीच ज़्यादा से ज़्यादा द्विपक्षीय सम्मेलन होंगे.

निरुपमा राव:  भारत चीन के फार्मा और आईटी सेक्टर में जाना चाहता है.

निरुपमा राव ने कहा कि मनमोहन सिंह और वेन जियाबाओ के पत्रकारों से सवाल-जवाब न करने में कोई अर्थ नहीं निकालना चाहिए.

निरुपमा राव: भारत और चीन को रक्षा के क्षेत्र में आदान-प्रदान फिर से शुरू करने का आधार तैयार करने की  कोशिश करनी चाहिए.

निरुपमा राव के मुताबिक़ भारत-चीन संबंध पहले के मुक़ाबले आज बहुत स्थिर है.

चीन ने पाकिस्तान में आतंकवाद की स्थिति पर अपना मूल्यांकन भारत के सामने रखा.

निरुपमा राव:  वेन जियाबाओ की पाकिस्तान यात्रा भारत-चीन संबंध से जुड़ी हुई नहीं है.

वेन जियाबाओ ने कहा कि ब्रह्मपुत्र नदी पर बन रहे बाँध के कारण निचले इलाक़ों में रहने वाले लोगों पर असर नहीं पड़ेगा.

निरुपमा राव के मुताबिक़ चीन ने संयुक्त राष्ट्र में भारत की अहम भूमिका की बात स्वीकार की.

निरुपमा राव: संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की स्थायी सदस्यता के मुद्दे पर दोनों नेताओं ने विचार-विमर्श किया.

निरुपमा के अनुसार वेन जियाबाओ ने ख़ुद ही इस मुद्दे पर अपना पक्ष रखा और कहा कि वे इस मुद्दे को हल करने के लिए विचार करेंगे.

निरुपमा राव के मुताबिक़ वेन जियाबाओ ने कहा कि नत्थी वीज़ा पर भारत की चिंता को चीन गंभीरता से लेता है.

चीनी प्रधानमंत्री ने मुंबई हमलों पर भी चर्चा की.

निरुपमा राव ने कहा कि चीन को आतंकवाद पर भारत की चिंता पर ध्यान देने की आवश्यकता है.

उन्होंने बताया कि दोनों नेताओं ने पाकिस्तानी धरती पर हो रही आतंकवादी गतिविधियों पर भी चर्चा की.

निरुपमा राव के मुताबिक़ दोनों नेताओं के बीच भारत-पाकिस्तान रिश्तों पर भी बात हुई.

अमित बरुआ:  निरुपमा राव के मुताबिक़ भारत ने बाज़ार में भागीदारी और व्यापार असंतुलन पर चिंता जताई है और चीन ने इस पर विचार करने का वादा किया.

निरुपमा राव के मुताबिक़ वर्ष 2005 से दोनों देशों के बीच व्यापार तिगुना हुआ.

अमित बरुआ: मनमोहन सिंह की चीन यात्रा का कार्यक्रम तय किया जाएगा.

अमित बरुआ: निरुपमा राव के मुताबिक़ मनमोहन सिंह और वेन जियाबाओ के बीच ये 11वीं  मुलाक़ात थी.

बीबीसी हिंदी सेवा के प्रमुख अमित बरुआ वहाँ मौजूद हैं.

चीन के प्रधानमंत्री वेन जियाबाओ की यात्रा के संबंध में निरुपमा राव की मीडिया ब्रीफ़िंग शुरू.

भारत की विदेश सचिव निरुपमा राव जल्द ही मीडिया को संबोधित करने वाली है.

मनमोहन सिंह ने दोनों देशों के बीच संबंधों को आगे बढ़ाने की दिशा में मिलकर काम करने की प्रतिबद्धता जताई.

इस मौक़े पर अपने भाषण में मनमोहन सिंह ने सभी क्षेत्रों में चीनवासियों की प्रगति की सराहना की.

प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत के बाद प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने वेन जियाबाओ के सम्मान में भोज दिया.

चीन ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की भारत की भूमिका को अहम बताया.

दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों के बीच हॉटलाइन की शुरुआत का स्वागत.

दोनों देशों के प्रमुख नियमित रूप से एक-दूसरे के यहाँ जाएँगे.

दोनों देश जलवायु परिवर्तन और क्योटो प्रोटोकॉल पर काम करने को सहमत

दोनों देश अदन की खाड़ी में समुद्री लुटेरों से मिलकर निपटेंगे.

चीन संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की अहम भूमिका समझता है.

 दोनों देश सीमा संबंधित विवादित मुद्दों पर शांतिपूर्ण तरीक़े से बातचीत करेंगे.

 दोनों देशों के विदेश मंत्री हर साल एक-दूसरे के यहाँ जाएँगे.

 मनमोहन सिंह ने वर्ष 2011 में चीन जाने का न्यौता स्वीकार किया.

दोनों देश आतंकवाद के ख़ात्मे के मुद्दे पर एकमत.

नदियों के मुद्दे पर सहयोग का वादा.

दोनों देशों के बीच आपसी व्यापार वर्ष 2015 तक 100 अरब डॉलर पहुँचने की उम्मीद.

13:07 IST- भारत-चीन संयुक्त बयान जारी.

12:57 IST-भारत और चीन के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत ख़त्म हुई.

12:55 IST- दोनों नेता समझौते के दौरान मौजूद रहे, लेकिन कोई सवाल-जवाब नहीं हुआ.

12:52 IST- वेन जियाबाओ और मनमोहन सिंह की मौजूदगी में छह समझौते पर हस्ताक्षर.

12:51 IST- भारतीय आयात-निर्यात बैंक और चीन के विकास बैंकिंग कॉरपोरेशन के बीच समझौते पर भी हुआ हस्ताक्षर.

12:48 IST-  रिजर्व बैंक और चाइना बैंकिंग रेग्यूलेटरी कमीशन में भी समझौता.

12:47 IST-सतलज नदी के जल को लेकर सूचना के आदान-प्रदान पर सहमति.

12:47 IST- जल संसाधन पर भी दोनों देशों के बीच सहमति. 

12:46 IST- मीडिया एक्सचेंज पर भी भारत और चीन में समझौता.

12: 45 IST-ग्रीन तकनीक पर दोनों देशों में समझौता हुआ.

12:44 IST-भारत और चीन के बीच कई समझौते पर हस्ताक्षर हो रहे हैं.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.