बंगाल:चिदंबरम ने पूछे तीखे सवाल

  • 25 दिसंबर 2010
फ़ाइल फ़ोटो
Image caption तृणमूल और सीपीएम के कार्यकर्ताओं के बीच कई बार हिंसक झड़पें हुई हैं.

गृह मंत्री पी चिदंबरम ने पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर राज्य में क़ानून व्यवस्था की स्थिति पर चिंता जताई है.

चिदंबरम की ये तल्ख चिट्ठी ऐसे समय लिखी गई है जब कांग्रेस की सहयोगी पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि पश्चिम बंगाल में केंद्रीय सुरक्षा बलों का दुरुपयोग किया जा रहा है.

अब गृह मंत्री ने राज्य सरकार से कहा है कि वो सुनिश्चित करे कि हरमद वाहिनी संगठन से जुड़े लोगों को जल्द ही निष्क्रिय किया जाए.

उनका कहना था, “अगर ये हथियारबंद लोग अपने ऊपर क़ानून व्यवस्था लागू करने की ज़िम्मेदारी लेते हैं तो मुझे ये सोचकर हैरानी हो रही है कि सुरक्षा बलों का क्या रोल होगा, ख़ासकर केंद्रीय अर्धसैनिक बलों का जिन्हें राज्य सरकार के अनुरोध पर ही भेजा गया है.”

पी चिदंबरम ने ये भी लिखा है कि ये बेहद चिंता की बात है कि हरमद वाहिनी को हथियार दिए गए हैं.

एक दिन पहले ही तृणमूल कांग्रेस का दल प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मिला था और उनसे कहा था कि पश्चिम बंगाल में कथित तौर पर केंद्रीय सुरक्षा बलों का दुरुपयोग हो रहा है.

गृह मंत्रालय के आँकड़ों के मुताबिक 15 दिसंबर 2010 तक तृणमूल कांग्रेस के 96 लोग मारे गए हैं जबकि 1237 घायल हुए हैं.जबकि सीपीएम के 65 लोगों और कांग्रेस के 15 लोगों की हत्या हुई है.

पी चिदंबरम ने कहा है कि ये आँकड़ें दर्शाते हैं कि स्थिति चिंताजनक है और क़ानून व्यवस्था ठप्प हो चुकी है.पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों में सीपीएम और तृणमूल के कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़पें हुई हैं.

हाल ही में हावड़ा ज़िले के एक कॉलेज में हुई झड़प में सीपीएम से जुड़े एक छात्र की मौत हो गई थी.

संबंधित समाचार